Friday, November 10, 2017

Published 10:24 PM by with 0 comment

साली रांड आज तेरी गांड को फाड़ दूंगा

आपको यद् होगा की मेरी एक दोस्त ने मुझ से अपनी सच्ची कहानी बताने को कहा था ,और मैंने अपनी सुहागरात की कहानी भेज दी थी .जिसे आपने अधूरी पढ़ी है .इसमे मैंने अपनी पत्नी के साथ चुदाई की बात कही है .किस तरह मैंने अपनी पत्नी निशु की चूत का उद्घाटन किया था .और कैसे मजे किये थे .आप भी यह पढ़कर अपनी पत्नी की जरुर चुदाई किये होंगे .
अब मैं कहानी आगे बढ़ा रहा हूँ ,कि मैंने निशु कि गांड कैसे मारी थी .और उसे कैसा लगा था .मुझे यकीं है कि इसे पढ़कर आप किसी लड़की कि गांड मारने का मजा जरुर लेंगे .मेरी पत्नी चुदाई का मजा ले चुकी थी .उसे चुदवाने में इतना मजा आने लगा था कि ,हर रात वह बिना चड्डी पहिने ही सोती थी .और चूत को हमेशा शेव कराती थी ..और अपनी चूत में खुशबु भी लगाती थी .वैसे मुझे चूत की असली खुशबु और स्वाद बहुत पसंद है .चूत का स्वाद लिए बिना मुझे चुदाई में मजा नहीं आता .
लेकिन जब भी मैं निशु की गांड मारने की कोशिश करता निशु किसी न किसी कम का बहाना कर देती थी .शायद उसे मेरे इरादे का पता चल गया था .वह सोचती होगी कि अगर ज़रा सी सकरी गांड में यदि मुसल जैसा लंड जायेगा तो ,गांड जरुर फट जायेगी .मैं तरकीबें सोचने लगा ,और मौके कि तलाश में रहने लगा .

क्योंकि मेरा मानना है कि ,अगर किसी लड़की कि गांड मार ली जाये तो ,वह हमेशा के लिए आपके लंड की दीवानी हो जाएगी .गांड मारने के लिए सख्त और लम्बा लंड होना जरूरी है .लड़कियाँ गांड मरवा लार लंड की ताकत का अंदाजा कर लेती हैं .फिर जब किसी लड़की की नर्म गांड में लंड जाता है तो .चारगुना मजा आता गांड अपने आप लंड को अन्दर से कस लेती है .गांड सकरी होती है और चूत इलास्टिक की तरह फ़ैल सकती है .गांड मारने वाले और मरवाने वाली को बड़ा मजा आता है .

मेरी पत्नी निशु अपने बोडीशेप पर बहुत ध्यान रखती थी .उसकी किसी सहेली ने उस से कहा था कि अक्सर शादी के बाद लड़कियां मोटी होने लगती हैं ,या उनके कमर के आसपास चर्बी जमा होने लगाती है .जिस से शरीर बेडौल दिखने लगता है .इसलिए निशु हमेशा काम में लगी रहती थी .वह कहती थी कि ,मैं प्रियंका चोपड़ा ,विपाशा बसु और मल्लिका शेरावत जैसी स्लिम बनी रहना चाहती हूँ .मैंने कहा क्या तुम्हें पता है कि ,यह सब अपना ऐसा शरीर बनाये रखने के लिए क्या करती हैं .यह लोग रोज अपनी गांड मरवाती हैं .इस से इनकी कमर पतली ,और शरीर स्लिम बना रहता है .फिर मैंने निशु को नेट से कुछ विडियो दिखाए जिसमे प्रियका युवराज से ,विपाशा जोन अब्राहम से और मल्ल्लिका किसी विदेशी से मजे से गांड मरवा रही थी .पूरा पूरा लंड उनकी गांड में आराम से अन्दर बहार हो रहा था ,वह कुतिया कि तरह पीछे से गांड मरवा रही .रहीं .
यह देखकर निशु दंग रह गयी ,और बोली इस से कोई दर्द तो नहीं होगा ?मेरी गांड तो नर्म और सकरी है ,कहीं फट न जाये ? आपका लंड तो लम्बा ,मोटा है .मैंने निशु से कहा पाहिले इनकी गांड भी तुम्हारे जैसी थी ,लेकिन देखो किसे मजे से गांड में लंड ले रही हैं .
मैं तुम्हारी गांड भी इनकी गांड जैसी बना दूंगा .यदि तुम मेरा सहयोग दोगी.फिर देखना कितना आनंद आता है .तुम खुद ही रोज गांड मरवाने कि इच्छा करोगी .

उस दिन दोपहर का समय था .निशु आखिर गांड मरवाने पर राजी होगई
मेरी ख़ुशी का पारावार नहीं था .लंड उछलने लगा ,मैंने फ़ौरन निशु को गोदी में उठाया और कमरे में लेजा कर पलंग पर लिटा दिया .फिर अपना लंड निशु के हाथ में देकर कहा डरो नहीं ,मेरा यह लंड तुम्हारी गांड को कोई तकलीफ नहीं देगा .तुम सिर्फ गांड ढीली रखना ,और मेरे अनुसार सहयोग देना .मैंने निशु के सारे कपडे निकल दिए .उसकी गुलाबी गांड लुप लुपहो रही थी .और मेरा लंड सांप कि तरह फनफना कर बिल में घुसने को तैयार होने लगा .मैंने निशु को अपनी गांड मेरी तरफ करने और ऊंची करने को कहा ,ताकि गांड का छेद लंड के .निशाने पर आ जाए
फिर मैंने निशु कि गांड के बहार और छेद के अन्दर तक तेल लगा दिया .और एक उंगली गांड में घुसा दी .निशु चुप्रही ,फिर मैंने एक साथ तिन उंगलियाँ गांड में घुसायीं और घुमा कर गांड को चौड़ा किया .निशु ओय ओय करती रही .जब गांड पूरी तरह खुल गयी ,और लंड सहने के लायक बन गयी तो मैंने अपने लंड पर भी तेल लगा दिया .ताकि लंड सटाक से गांड में चला जाये .

मैंने निशु से कहा तुम गांड को ढीली रखना ,अगर दर्द होने लगे तो बता देना .सिर्फ जरा सा दर्द होगा ,जैसा पहिली बार चुदवाने में हुआ था .फिर मैंने निशु कि कमर को जोर से जकड लिया और लंड गांड के छेद पर रख दिया .गांड पर लंड का गर्म गर्म स्पर्श होते ही निशु कि गांड अपने आप ही मुंह फ़ैलाने लगी .मैंने थोडा सा दवाब देकर लंड का सिरा अन्दर घुसा दिया ,जो आराम से चला गया .यह मेरी पहिली जीत थी .फिर एक धक्का लगाकर चौथाई लंड गुसा दिया ,निशु के मुंह से” ओह मेरी मम्मी मर गयी “ओह ओह ,ई ई की आवाज निकल पड़ी .लेकिन मैंने उसकी परवाह नहीं की .दो मिनट र्य्काने के बाद मैंने एक और जोर का ऐसा धक्का मारा कि लंड गांड को फैला कर पूरा जड़ तक समां गया .निशु का मुंह दर्द से लाल हो गया .गांड में बिलकुल जगह नहीं रही .निशु चिल्लाई मेरी गांड फट गयी ,आपका लंड गांड से होकर मेरी चूत से निकल जायेगा .प्लीज लंड निकाल लो .लेकिन ,ऐसे में लंड निकालने से फिर निशु कभी गांड नहीं मरवाती .मैंने लंड अन्दर ही रहने दिया .और हाथ से निशु कि चूत को सहलाने लगा .जिस से उसे दर्द में राहत सी लगी .वह वैसी ही झुकी पड़ी रही .

फिर मैंने धीरे धीरे लंड को बहार अन्दर करना शरू कर दिया .तेल से आसानी हो रही थी .पांच मिनट के बाद लंड आराम से गांड में पिस्टन कि तरह चलने लगा .निशु को भी दर्द नहीं होने लगा .उसने खुद गांड को मेरे लंड की तरफ धकेलना शुरू कर दिया .उसकी चूत से चिकना रस निकाल कर चादर पर टपक गया .मैं समझ गया कि अब जमकर गांड मारी जा सकती है .गांड पोली हो चुकी है .जैसी प्रियंका चोपड़ा और दूसरी ऐक्ट्रेस कि हैं
इसके बाद मैंने निशु कि गांड में लंड के ऐसे करारे ढके मरे कि ,उसकी गांड कि सारी नसें ढीली हो गयीं .वह फकाफक लंड लेने लगी .और अपनी गांड उछलने लगी .निशु बोली सचमुच बड़ा मजा आ रहा है .अगर इस आनंद के लिए गांड भी फट जाये तो कोई हर्ज नहीं है .मुझे अज पता चला कि फिल्म की एक्ट्रेसें रोज गांड क्यों मरवाती हैं .और उनकी कमर पतली क्यों बनी रहती है .

आज से मैं भी गांड मरवाऊँगी.आप जब चाहो मेरी गांड मार लेना .आप ठीक ही कहते हैं कि लड़कियों के दोनो छेद लंड लेने के लिए ही बने हैं
जिस लड़की ने गांड नहीं मरवाई उसने जिंदगी का असली मजा नहीं लिया आज मैंने गांड मरवा कर सुहागरात की जगह “सुहाग दिन “मन लिया है .आज से रातकी चुदाई को “सुहाग रात “और दिन की गांड मराई को “सुहाग दिन “कहा करुँगी
दोस्त मैने जब यह कहानी अपनी दोस्त बता कर पोस्ट की थी .उसके पाहिले ही निशु की गांड मारी थी .वह मेरी दोस्त की आभारी है ,जिसके कारण गांड मरवाने का मजा मिल रहा है
क्या आप भी यह सच्ची कहानी पढ़कर गांड का मजा लेने वाले हैं ? लड़कियाँ जरुर आजमाकर देखें!
      edit

0 comments:

Post a Comment