Saturday, December 30, 2017

Published 9:54 PM by with 0 comment

दूसरों की बीवी अगर गर्म हो तो चोदने का मज़ा

नमस्कार पढ़को कैसे हो आप सभी लोग ? मैं आशा करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ही होगे | दोस्तों आप लोग चुदाई का मज़ा तो ले ही रहे होंगे | कुछ मेरे दोस्त हैं जिनके पास चुदाई के लिए टाइम नही निकाल पाते हैं | मैं उन लोगो को बताना चाहता हूँ को अगर आप अपनी बीबी की चुदाई नहीं करोगे तो आप की बीबी अपनी आग को बुझाने के लिए दुसरे आदमी के लंड से अपनी चूत की आग बुझाएगी | दोस्तों में आप लोगो को अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम परदीप है | मेरी उम्र 26 साल है | मैं रहने वाला बहराइच का हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 7 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच लम्बा और मोटा 3 इंच है | मेरी इंजिनियर की पढाई अभी पूरी हुई है | मैं दिखने में गोरा हूँ | मैं जीम भी जाता इसलिए मेरी बॉडी भी ठीक ठाक है जिससे में स्मार्ट दीखता हूँ | मुझे सेक्सी कहानी पढना पसंद है और मुझे वो ही कहानी पढना पसंद है जो भाभी और बीबी की चुदाई वाली कहानी होती हैं मुझे पढने में मज़ा आता है | मैं अक्सर चुदाई की कहानी पढ़ता था और मुझे भी अपनी चुदाई की कहानी लिखने का मन होता था | जो मैं आज अपनी एक कहानी लिखने जा रहा हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना है | ये मेरी पहली कहानी है तो इसमें कोई भी गलती हो सकती है अगर आप लोगो को इसमें गलती नज़र आती है तो मुझे माफ़ करना | मैं आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और पढने में मज़ा भी आएगा | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी पर आता हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है | जब मैं अपने दोस्त के घर गया तो वहाँ मैंने अपने दोस्त की बीबी को देख कर मेरे होश उड़ गए | वो दिखने में बहुत गोरी थी | उसका मस्त फिगर था और बड़े बड़े बूब्स उसकी बड़ी चौड़ी गांड जिसको देख कर कोई भी उसका दीवाना हो जाये यही मेरा भी हाल हुआ था | मैं आप लोगो को अपने दोस्त के बारे में बता देता हूँ | उसका नाम संदीप है वो मेरा काफी टाइम पहले से मेरा दोस्त है | उसकी बीबी मुझे बहुत ही सेक्सी नज़रो से देख राही थी | फिर मैं अपने घर चला आया | कुछ दिन बाद की बात है जब मैं उसके घर गया था तो वो घर पर नहीं था | तो मैंने पूछा भाभी जी संदीप कहाँ है | तब वो मुझसे बोली की रुको अभी आते हैं और वो मेरे लिए चाय बनाने चली गयी | काफी देर हो गयी पर वो नहीं आया और वो जब मुझे चाय देने के लिए आई | जब वो मुझे चाय झुक कर देने लगी तो उसके बूब्स मुझे दिखने लगे और मैं उसके बूब्स को दिखने लगा | तब वो हँसने लगी और बोली बहुत प्यार से देख रहे हो इतने अच्छे हैं क्या | पर मैं कुछ नही बोला और पूछने लगा की कब तक संदीप आयेगा तब उसने बताया की वो बाहर गए हैं दो दिन बाद आयेगे | फिर वो बोली मैं तुम्हे बहुत पसंद करती हूँ |

फिर वो मेरे पास बैठ कर बात करने लगी और वो धीरे धीरे मेरे और करीब आ गयी | फिर वो अपनी टांगो पर मेरा हाथ रख कर मेरे हाथ से अपनी टांगो को सहलाने लगी | तब मुझे लगा की ये मुझसे चुदना चाहती है | वो मेरे हाथ से कुछ देर तक अपनी टांगो को सहलाती रही फिर वो उठ कर मेरी गर्दन में किस करती हुई मेरे शर्ट के बटन खोल दिए और मेरे सिने पर किस करती हुई मेरे लंड को पेंट के उपर से सहलाने लगी | कुछ देर बाद मैंने उसकी होठो पर अपने होठ रख कर उसके होठो को चूसने लगा | वो भी मेरे होठो को मुंह में रख कर चूसने लागी | मैं उसके होठो को चूसने के साथ में उसके बूब्स को दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाते हुए उसके कपडे को निकाल दिये | वो कुछ ही देर में मेरे सने ब्रा और पेंटी में अगई थी | मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से मुंह में रख कर चूसने लगा जिससे उसके मुंह से सिसिकियाँ निकाल गयी | मैं उसके बूब्स को चूसते हुए उसकी ब्रा भी खोल दी और उसके एक दूध को मुंह में रख कर उसके दूध को चूसने लगा | वो अपनी चूत को सहलाती हुई अपने बूब्स को चूसा रही थी | मैं उसके पहले वाले दूध को छोड़ कर उसके दुसरे वाले दूध को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगा और पहले वाले को अपने हाथ में पकड कर दबाने लगा जिससे उसके मुंह से सिसिकियाँ निकल गयी | मैं उसके दोनों को दूध को कुछ देर तक एक एक करके चूसता रहा | फिर मैंने उसकी पेंटी भी निकाल दी | फिर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा तो उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में उसस उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह उह्ह्ह करती हुई अपने बूब्स को मसलने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए उसकी चूत को चोदने लगा |

मैं उसकी चूत में जीभ को अन्दर बाहर करने के साथ में उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा कर अंदर बाहर करने लगा | जिससे उसके मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह ऊह्ह करती हुई अपने बूब्स को मसलने लगी | मैं उसकी चूत में अपनी जीभ के साथ उसकी चूत में ऊँगली को अंदर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अहह उह्ह अहह करने लगी | मैं उसकी चूत में कुछ देर तक ऐसे ही उसकी चूत को चाटने के बाद मैंने अपने कपड़े निकाल कर उसके मुंह में अपने लंड को घुसा कर चुसाने लगा | वो मेरे लंड को अपने मुंह में रख कर चूसने लगा | वो मेरे लंड को अपने मुंह में अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | मैं सिसिकियाँ लेते हुए उसके मुंह में लंड को अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | मैं अपने लंड को कुछ देर तक ऐसे ही चूसता रहा | फिर उसके मुंह से लंड को निकाल कर उसकी टांगो को थोडा सा फेला कर उसकी चूत के मुंह पर लंड को रख कर उसकी चूत में घुसा कर चोदने लगा | तो उसके मुंह से हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अहह अहह य्फ्फ्फ़ य्ह्ह्हह य्फफ्फ्फ्फ़ य्ह्ह्हह अह्ह्ह्ह की सिसिकियाँ निकाल गयी | मैं उसकी चूत में लंड को अंदर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | वो अपने बूब्स को अपने मुंह में रख कर चूसती हुई चुदने लगी साथ में उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह उफ्फ्फ अहह करने लगी | मैं उसको जोर जोर के धको के साथ उसको चोदने लगा | मैं उसकी चूत में अंदर बाहर करते हुए उसको चोद रहा था | वो उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अहह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ करती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | मैं उसकी चूत को जोरदार झटको के साथ मैं उसको चोद रहा था | वो अपनी चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | फिर मैने उसकी चूत से लंड को निकाल कर उसके मुंह में लंड को डाल कर उसके मुंह में अन्दर बाहर करते हुए चुसाने लगा | मैं अपने लंड को कुछ देर तक चुसाने के बाद उसको जमीन पर घोड़ी बना कर उसके पीछे से चूत में लंड को डाल कर उसको चोदने लगा | तो उसके मुंह से उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अह्ह्ह अहह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह ज्ह्ह्ह की सिसिकियाँ निकाल गयी | मैं उसकी चूत में पीछे से लंड को जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए उसको चोदने लगा | वो अपनी चूत को हिलाती हुई उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह अह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊऊ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह्ह ऊआआ उह्ह अहह अह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊफ्फ्फ उह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ ह्ह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अहह करती हुई चुदने लगी | मैं उसकी चूत में जोरदर धक्को के साथ उसको चोद रहा था | वो अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुदने लगी | मैं उसको ऐसे ही 35 मिनट की मस्त चुदाई करने के बाद मेरे लंड ने उसकी गांड पर सारा माल निकाल दिया | इस तरह से मैंने अपने दोस्त की बीबी की मस्त चुदाई की |
      edit

0 comments:

Post a Comment