Thursday, December 28, 2017

Published 2:59 AM by with 0 comment

मेरी चूत पर जीभ रगड़ कर चाटने लगा

नमस्कार दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं आशा करती हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे | मेरा नाम शकुंतला है और मैं निवादगंज में रहती हूँ | मेरी उम्र 24 साल है और मैं एक प्राइवेट जॉब करती हूँ | मैं दिखने में सांवली हूँ और मेरा फिगर सेक्सी है और मैं दिखती भी हॉट हूँ | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी पेश करने जा रही हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पसंद आयगी | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए सीधा अपनी कहानी शरू करती हूँ |

मैं प्राइवेट कंपनी में जॉब करती हूँ तो मुझे मीटिंग्स में कई बार यहाँ वहां जाना पड़ता है | मैं कई बार लंड ले चुकी हूँ और मुझे चुदाई बहुत पसंद है | मेरा बस चले तो मैं हर दम चुद्वाती रहू | मुझे कई बार अपने बॉस और किसी न किसी से चुदवाने का अवसर मिलता रहा है | एक बार की बात है मुझे ऑफिस के काम से मुंबई जाना पड़ा | वहां होटल में रुकना था | सारी व्यवस्थाये कंपनी वालो ने ही कर के दिए थे | मुझे लगभग एक हफ्ते वहां रुकना था | वहां पर एक रूम सर्विस वाला था उसका नाम कालू था और वो काला भी बहुत था | पर उसकी कदकाठी ऐसी थी कि कोई लड़की उसके नीचे आ जाये तो उसकी गांड ही फट जायगी | वो वैसे नेचर से बहुत ही अच्छा था | एक बार मैं नहा कर निकली और अपने बदन को एक गीली टॉवल से ढाँका हुआ था | मेरी चाय पीने की बहुत इच्छा थी तो मैंने बेल बजाई और कालू जल्द ही आ गया | मैंने जब दरवाजा खोला तो वो मुझे बड़ी बड़ी आँखों से घूरने लगा | वो मेरे शरीर को बहुत अच्छे टोल मटोल रहा था | वो कभी मेरे दूध के उभारो को देखता तो कभी नंगी टांगो को | फिर मैंने उससे कहा कालू मुझे चाय पीने का मन कर रहा है मस्त अदरक वाली चाय ला कर देना | उसने ओके मैडम कह कर चला गया | मैं फिर रेडी हुई और अच्छे से सज संवर गई | वो करीब 15 मिनट बाद आया और मुझे चाय दे कर कहा कि मैडम आप बहुत सुन्दर लग रहे हो | तो मैंने भी उसको थैंक यू कहा | उसके बाद वो चला गया | एक दिन रात में मुझे कालू का सपना आया कि वो मुझे चोद रहा है और मैं भी उससे चुदाई के मजे ले रही हूँ | फिर मेरी नींद खुल गई और मैंने एक बार अपनी चूत का पानी निकाल कर सो गई | अब मेरा नजरिया कालू के प्रति बदल गया और मैं सोचने लगी कि कालू को किस तरह पटाऊ कि वो मुझे चोद दे | मैं प्लान बनाने लगी | मैंने शाम के समय ऑफिस से आने के बाद एक सेक्सी सा गाउन पहने हुयी थी जो की मेरे घुटनों तक थी | मैंने बेल बजाई और कालू तुरंत ही आ गया | मैंने दरवाजा खोला और तुरंत ही जा कर कालू की बांहों में गिर गई | कालू ने मुझे सँभालते कहा आराम से मैडम जी | मैंने कहा कालू मुझे जल्दी से बिस्तर पर ले चलो पैर में मोच आ गई है शायद | उसने मुझे तुरंत अपनी गोद में उठाया और बिस्तर पर लेटा दिया | मैंने कहा कालू प्लीज कुछ करो मुझे बहुत दर्द हो रहा है | मैं नाटक कर रही थी और कालू को लग रहा था कि सच में मेरे पैरो में मोच आई है | कालू जल्दी से मेरे बैग से तेल निकाला जो कि मैंने उससे निकालने के लिए कहा था | वो मेरे पैर को आयल से मालिश करने लगा जिससे मेरे बदन में एक सिहरन से दौड़ गई | दोस्तों आप लोग ये कहानी हिंदीसेक्सकहानियां डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं|

मैं देख रही थी कि कालू बहुँत ही परेशान हो कर मेरे पैर की मालिश कर रहा था | फिर मैंने कालू से पूछा की कालू तुम कहाँ के रहने वाले हो ? तो उसने बताया कि मैडम में गाँव में रहता हूँ | फिर हम दोनों ऐसे ही बात करने लगे तो मैंने कालू से कहा कि कालू मुझे तुम्हारी एक मदद चाहिए है | उसने कहा हाँ मैडम कहिये न मैं जरुर करूँगा आपकी मदद | तो मैंने कालू से सीधा कह दिया कि कालू मुझे तुम्हारा लंड चाहिए | मैं तुमसे चुदवाना चाहती हूँ | मुझे कुछ नहीं हुआ है मेरा पैर एक दम सही है | मैं नाटक कर रही थी | ये सुन कर कालू मुझे हवस भरी निगांहो से देखने लगा | मैं तुरंत उठ कर कालू की बांहों में समां गई और उसके होंठ में अपने होंठ रख कर किस करने लगी | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगा | हम दोनों ने करीब 15 मिनट टक खूब किये और उसके बाद उसने मेरे गाउन को उतार दिया और ब्रा के ऊपर से ही मेरे मम्मो को मसलने लगा तो मेरे मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर उसने ब्रा को उतार दिया और मेरे दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उसके पेंट के उपर ही उसके लंड को मसलने लगी | फिर उसने मेरी पेंटी को उतार दिया और मेरी चूत पर अपनी जीभ रगड़ कर चाटने लगा तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मदहोश होने लगी |

वो मेरी चूत को चाटते हुए चूत के दाने को भी चूस रहा था होंठ में दबा कर और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए उसके मुंह को अपनी चूत पर दबाने लगी | उसके बाद मैंने उसके पूरे कपड़े उतार दी और अंडरवियर उतार कर पूरा नंगा कर दी | मैंने जब उसके मूसंड लंड को देखा तो मुझसे रहा नहीं गया और मैं झट से उसके लंड को अपने हाँथ में ले कर जीभ से चाटने लगी तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए सिस्कारिया भरने लगा | फिर मैंने उसके लंड को अपने मुंह में डाल लिया और चूसने लगी तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मेरे मुंह को चोदने लगा | मैं जोर जोर से उसके लंड को अपने मुंह के अन्दर बाहर करते हुए चूस रही थी और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए मजे ले रहा था | फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत पे टिकाया और अन्दर डाल कर चोदने लगा | मैं भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए सातवे असमान की सैर करने लगी | फिर उसने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो मैं भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहह करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदाई में उसका साथ देने लगी | करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद उसने अपना वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया | फिर हम दोनों ने एक बार और चुदाई किये | मैं जब तक मुंबई में रही उससे अपनी चूत चुद्वाती रही |
      edit

0 comments:

Post a Comment