Wednesday, January 10, 2018

Published 5:30 PM by with 0 comment

अपनी बहन के देवर से चुदवाया

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी ? मैं आशा करती हूँ की आप लोग ठीक ही होगे | मेरा नाम रिंकी है | मैं रहने वाली हरिद्वार की हूँ | मेरी उम्र 20 साल है | मैं बी ऐ सेकेंड इयर में पढ़ती हूँ | मेरी हाईट 6 फुट 9 इंच है | मैं दिखने में काफी गोरी हूँ | मेरा फिगर देख कर किसी बूढ़े आदमी का भी लंड खड़ा हो जाये | मेरे बड़े बड़े बूब्स और मेरी पतली कमर और मेरी मस्त बड़ी गांड है | मैं किसी हुस्न की मल्लिका से कम नहीं हूँ | जिसको देख कर मेरे मोहल्ले के लड़के पागल रहते हैं | मुझे सेक्सी कहानी पढना बहुत अच्छा लगता है | मैं सेक्सी कहानी काफी अरसे से पढ़ती आ रही हूँ और आज मुझे भी मौका मिला रहा है की मैं भी एक कहानी लेकर आई हूँ | ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की सच्ची घटना | मेरे घर मैं 4 लोग थे | मैं और मेरे मम्मी पापा और मेरी दीदी | जिसकी अभी कुछ महीने पहले शादी हो गयी है | मेरी दीदी की शादी कानपूर से हुई है | मैं आप लोगो का ज्यादा समय न लेती हुई सीधे अपनी कहानी पर आती हूँ |

ये कहानी कुछ दिन पहले की है जब मैं गर्मी की छुट्टियों में अपनी दीदी के घर गयी थी | मैं जब वहां गयी तब मैंने वहां दीदी के देवर को देखा | जिसका नाम बब्लू था | वो दिखने में काफी अच्छा था | उसकी मस्त बॉडी भी थी और काफी स्मार्ट था | जब मैंने उसे पहली बार शादी में देख था तो वो मुझे इतना अच्छा नहीं लगा था | पर जब मैंने उसको उसके घर देख तो वो मुझे बहुत अच्छा लगा था | अब मैं उसके घर पर रुकी थी और मैं कभी कभी उसे मजाक भी कर दिया करती थी | एक दिन की बात है जब मैंने उसकी गांड पर हाथ मारा तो वो ये बात मेरी दीदी से बोल दिया | तो मेरी दीदी ने मुझसे कहा की तुमने मेरे देवर को क्यूँ मारा तो मैंने भी कह दिया | दीदी तुम्हरा देवर छोटा बच्चा नहीं है मैं तो मजाक कर रही थी | वो ये बात पीछे से सुन रहा था | तब वो मुझसे बोला ठीक है रिंकी जब मैं करूँगा तब भाभी से न कहना | तब मेरी दीदी बोली तुम दोनों आपस में जानो मुझ कोई जरूरत नही है और वो ये कह कर चली गयी | उसके बाद मैं सो रही थी | तब बब्लू आकर मेरी होठो पर किस करने लगा और मैंने भी उसके लंड को पकड कर दबा दिया | तो वो मेरे बूब्स को दाबने लगा तभी दीदी ने मुझे आवाज दी और मैं चली गयी | इस तरह से वो मेरे साथ अक्सर किया करता था | मुझे भी अच्छा लगता था | एक दिन की बाद है जब मेरी दीदी और घर के सब लोग किसी पार्टी में जा रहे थे और बब्लू नहीं जा रहा था |
तो मैंने भी माना कर दिया और कहा मेरा मन नहीं है जाने का आप लोग चले जाओ | सब लोग चले गए और बब्लू अपने कमरे में सो रहा था | मैंने जाकर उसके कमरे के दरवजा बंद करके उसकी होठो पर अपने होठ रख कर मैं उसकी होठो को चूसने लगी और उसकी आंखे खुल गयी | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरी होठो को चूसने लगा | मैं उसकी होठो को चूसने के साथ उसके लंड को पेंट के ऊपर से सहला रही थी | वो मुझे किस करने के साथ में मेरे बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | तो मेरे मुंह से उह्ह्ह उग्ग्ग्गु ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ ऊआआ हाह्ह्ह करने लगी | वो मेरे दूधो को जोर जोर से मसलने लगा | साथ में मेरी चूत को कपडे के ऊपर से सहला रहा था | तो मेरे मुंह से उह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ की सिसिकियाँ लेने लगी | फिर उसने मेरे कपडे निकाल दिए |

मैं अब उसके सामने ब्रा और पेंटी में थी | वो मेरे दूध को ब्रा के ऊपर से मसलते मसलते मेरी ब्रा भी खोल दी | अब मेरे बड़े बड़े दूध उसके सामने आ गए और वो मेरे एक दूध को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा | जिससे मेरे मुंह से हलकी हलकी आवाज में उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह उफ्फ्फ की सिसिकियाँ निकलने लगी | वो मेरे एक दूध को मुंह से चूस रहा था और एक को हाथ से मसल रहा था | में उह्ह्हू ऊग्ग्ग्ग उफ्फ्फ उह्ह्हू ह्ह्हू ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ करती हुई अपने मुंह में अपनी ऊँगली को डाल कर चूस रही थी | फिर उसने मेरे पहले दूध को छोड़ कर दुसरे वाले को मुंह में रख कर चूसने लगा और पहले वाले को अपने हाथ से दबने लगा | तो मेरे मुंह से उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्हह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ की सिसिकियाँ लेते हुए अपनी चूत को सहलाने लगी | वो मेरे दोनों दूधो को एक एक करके चूस रहा था | कुछ देर तक वो मेरे दोनों दूध को चूसता रहा | फिर वो मेरी पेंटी को निकाल कर मेरी टांगो को थोडा से फेला कर उसने अपना मुंह मेरी चूत में घुसा कर मेरी चूत को चाटने लगा | तो मेरे मुंह से ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्हू उह्ह्ह्ह उउह्ह्ह उफफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह्ह उह्ह्ह आःह्ह की आवाज निकल गयी | वो मेरी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा जिससे मेरे मुंह से ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्हह्ह उह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह करती हुई अपने बूब्स को मसल रही थी | वो मेरी चूत को चाटने के साथ मेरी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी | तो में ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उय्य्य उफ्फ्फ्फ़ करने लगी |

वो मेरी चूत में अपनी ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा जिससे मेरी मुंह से हलकी हलकी आवाज में ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ ऊह्ह उफ्फ्फ की सिसिकियाँ लेते हुए अपनी बूब्स को मसलने लगी | वो मेरी चूत को कुछ देर तक चाटता रहा | फिर अपने कपडे निकाल कर अपने लंड को हिलाने लगा | तो मैंने उसके लंड को अपने हाथ में पकड़ कर मुंह में रख कर चूसने लगी | तो उसके मुंह से ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ उह्ह्ह करने लगा | मैं उसके लंड को अपने मुंह में अन्दर बाहर करते हुए चूस रहा थी | वो ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह करते हुए मेरे सर को पकड कर मेरे मुंह में धीरे धीरे धक्के मारने लगा | फिर वो मेरी टांगो को फेला कर मेरी चूत के मुंह पर रख कर मेरी चूत में लंड को घुसा कर अन्दर बाहर करने लगा | तो मेरे मुंह से ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ करते हुए चुदने लगी | वो जोर जोर के धक्के के साथ मेरी चूत को चोद रहा था | मैं ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ करते हुए चुद रही थी | वो अपने लंड से मेरी चूत को फुल स्पीड से चुदने लगा | वो मेरी चूत में अन्दर बाहर करते हुए मेरी चूत को चोद रहा था | मैं ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ करती हुए अपने चूत को हिला हिला कर चुदने लगी | वो मेरी चूत में अन्दर बाहर करते हुए चुद रहा था और मैं ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अह्ह्ह उह्ह आह्ह्ह ह्ह्ह्ह ऊह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ उह्ह्ह्ह उफ्फ्फ्फ़ अह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह अह्ह्ह उह्ह्ह उफ़ अह्ह्ह उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह उह्ह्ह उफ्फ्फ उह्ह्ह उफ्फ्फ अहह करते हुए अपनी चूत को आगे पीछे करते हुए चुद रही थी वो मेरी चूत को अन्दर बाहर करते हुए चुद रहा था | वो 35 मिनट की मस्त चुदाई के बाद अपने लंड को मेरी चूत से निकाल कर मेरी चूत के ऊपर मुठ मारने लगा और कुछ दी देर में उसके लंड ने सारा माल मेरी चूत के ऊपर निकाल दिया |
      edit

0 comments:

Post a Comment