Friday, January 12, 2018

Published 1:02 AM by with 0 comment

दोस्तों अपनों को चोदने का मज्जा कुछ और है

हैल्लो फ्रेंड्स, कैसे हैं आप ? मैं आशा करता हूँ कि आप सभी कुशलमंगल होंगे | दोस्तों, मैं चुदाई की कहानिया रोज पढता हूँ और मुझे कहानी पढ़ कर बहुत ही मजा आता है | मेरा नाम प्रीतम है और मैं वाराणसी में रहता हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मैं दिखने में सांवला हूँ | मेरी कद और काठी दोनों ही अच्छी है | मेरा कद 5 फुट 11 इंच है और मेरा शरीर हस्ट-पुष्ट है | मेरे लंड का साइज़ 8 इंच मोटा और 3 इंच मोटा है | मेरे घर में मैं, मम्मी और पापा है | बहन की शादी हो चुकी है और पापा मुंबई में जॉब करते हैं | मम्मी भी कंप्यूटर ऑपरेटर हैं | दोस्तों, आज जो मैं ये कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरे जीवन की पहली और सच्ची घटना है | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी पढ़ कर बहुत मजा आयगा | तो अब मैं बिना वक़्त बरबाद किये अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना पिछले साल की है | मेरे मामा की लड़की जिसका नाम साध्वी है वो हमारे घर रहने आई | वो दिखने में काफ़ी सुन्दर है और उसका भरा बदन उसकी जवानी को दर्शाता है | उसके बड़े बड़े दूध हैं और बड़ी गोल सी गांड है | उसका कॉलेज शुरू होने वाला था तो वो हमारे घर रह कर ही पढाई पूरी करना चाहती थी | मम्मी ने भी हमारे घर रहने की इजाजत दे दी थी | साध्वी एक रंडी किस्म की लड़की है और ये बात मुझे बहुत पहले से ही मालूम है वो चुदक्कड है | पर उसका ये सपना पूरा मेरे घर में रह कर नही होने वाला था | क्यूंकि मम्मी ने पहले ही बोल चुकी थी उससे की मेरे घर में रह रही हो तो कायदे और कानून के साथ रहना | ऐसे ही कुछ समय बीत रहे थे | उसका एक सेमेस्टर भी कम्पलीट हो चुका था | एक दिन मैं दारू पी कर घर आया दोपहर में | घर खाली था बस साध्वी ही थी घर में | उसे ये नही पता था कि मैं शराब का नशा भी करता हूँ | मैं जैसे ही घर में गया और उससे कहने लगा कि मुझे खाना दो तभी मैं अचानक गिर गया | वो मुझे उठाने आई तो उसे मेरे मुंह से शराब की बदबू आ गयी | उसने मुझसे पूछा कि आज तू दारू पीके आया है क्या ? तो मैंने कहा कि हाँ पिया हूँ तो चल खाना दे मुझे | तो उसने कहा कि रुक मामी को आने दे मैं बताउंगी कि तूने दारू पी है | तो मैंने उससे कहा कि सुन तू अपने काम से काम रख समझी मैं कुछ भी करू तुझे उससे क्या ? तो उसने कहा कि ठहर जा बताती हूँ मामी को पता चल जायगा तुझे और वो मम्मी को फ़ोन लगाने लगी | मैं डर गया कि अगर मम्मी को पता चल गया कि मैंने दारू पिया हूँ तो मुझे बहुत मार पड़ेगी | फिर मैं उसका मोबाइल छीनने लगा और इसी छीना झपटी में कभी मेरा हाँथ उसके दूध में लगता तो कभी उसकी गांड में | तो कभी उसका हाँथ मेरे लंड में लगता | ऐसे ही करते करते मेरा लंड खड़ा हो गया |

मैंने उससे गुस्से में उसे कहा कि फोन मत लगाना नहीं तो मैं तेरी गांड मार लूँगा | तो उनसे भी पता नही क्या सोचा और क्या समझा ? मुझे जवाब में कहा कि गांड नही चूत मार ले | फिर हम दोनों एक दूसरे की शक्ल देखने लगे | उसके बाद मैंने उसके होंठ में अपने होंठ रख दिया और उसके मोटे मोटे होंठ को चूसने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठ को चूसने लगी और मेरे लंड को हाँथ से सहलाने लगी जीन्स के ऊपर से ही | अब माहौल बिलकुल बदल चुका था | लड़ाई का समां प्यार में बदल गया | फिर मैंने उसके टॉप को उतार दिया और उसके ब्रा के ऊपर से ही बड़े बड़े दूध को मसलने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | फिर मैंने ब्रा को उतार दिया और गोरे गोर्री दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर पर हाँथ फेरने लगी |

मैं उसके दूध को जोर जोर से मसलते हुए चूस रहा था और निप्पलस को भी अपने होंठ में दबा कर चूस रहा था | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए दूध चुसाई का मजा ले रही थी | फिर हम दोनों मेरे कमरे में गये | अब उसने मेरी शर्ट को उतार दी और मेरी जीन्स को भी | अब मैं उसके सामने अंडरवियर में था | फिर उसने मेरे अंडरवियर को भी उतार दी और मुझे पूरा नंगा कर दी | अब वो मेरे लंड को हाँथ से हिला हिला कर चाटने लगी तो मेरे मुंह से भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की आवाज निकलने लगी | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाल ली और लंड के सुपाडे को चूसने लगी | मुझे गुदगुदी होने लगी तो मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगा | फिर उसने मेरे लंड को पूरा मुंह में अन्दर डाल कर चूसने लगी तो मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके मुंह को चोदने लगा |

वो मेरे लंड को चूस रही थी और साथ में दोनों बॉल्स को भी चूस रही थी और मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए बस मजा ले रहा था | उसके बाद मैंने उसके लोअर को उतार दिया और पेंटी भी | उसकी मोटी चूत देख कर मेरे मुंह में पानी आ गया | अब मैंने उसे लेटा दिया और उसकी टांगो को चौड़ा कर दिया | अब मैं उसकी चूत में अपनी जीभ रख कर चाटने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मछली की तरह छटपटाने लगी | मैं उसकी चूत को चाटने के साथ साथ चूत के दाने को भी होंठ से दबा दबा कर चूस रहा था और वो बस आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्करिया ले रही थी | फिर उसने मुझसे कहा कि बस भी करो अब मुझे चोद दो | मेरी चूत प्यासी है | तो मैंने अपना लंड उसकी चूत में रगड़ते हुए डाल दिया | अब मैं उसकी चूत धीरे धीरे झटको के साथ चोदने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी |

फिर कुछ देर ऐसे ही चोदने के बाद मैंने अपनी चुदाई की रफ़्तार बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के मारते हुए चोदने लगा तो वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | फिर मैंने उसे कुतिया बना दिया और कुत्ते की तरह उसके पीछे जा कर चढ़ गया | अब मैं उसके दोनों दूध को पकड़ कर अपना लंड उसकी चूत में डाल कर चोदने लगा और वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए अपनी गांड आगे पीछे करते हुए चुदवाने लगी | उसी दौरान वो झड़ गयी | पर मैं अभी तक भी झड़ा था और जोर जोर से शॉट लगाते हुए चोद रहा था | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए जोरदार चुदाई का आनंद ले रही थी | फिर मैं आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके पीठ में अपना वीर्य निकाल दिया | उसके बाद अब हम दोनों रोज चुदाई करने लगे | अभी तक किसी को भी हमारे चुदाई के रिश्ते के बारे में नही पता |
दोस्तों, ये थी मेरी कहानी |
      edit

0 comments:

Post a Comment