Saturday, January 13, 2018

Published 9:13 PM by with 0 comment

भाबी की कमसिन कामुक बहन

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सभी लोग ? मैं उम्मीद करता हूँ की आप सभी लोग ठीक ठाक होगे | दोस्तों मैं जो आज कहानी आप लोगो के सामने पेश करने जा रहा हूँ इस कहानी को पढ़कर सभी लडको के लंड खड़े हो जायेंगे और उनके लंड का पानी तो निकल ही जायेगा | लड़कियों की चूत में आग लग जाएगी और सब लड़कियां अपनी चूत में ऊँगली डाल कर अपनी चूत की खुजली को शांत करेंगी | मैं अपनी कहानी को शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देता हूँ | मेरा नाम अनुराग है और मैं रहने वाला एक बड़े शहर का हूँ | मेरी उम्र 22 साल है और मेरा रंग गोरा है जिससे मैं दिखने में स्मार्ट लगता हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 8 इंच है और मेरी हाईट मेरी बॉडी की हिसाब से ठीक है | मैं अभी पढाई करता हूँ | मेरा परिवार 4 लोगो का है पर मेरे भैया के शादी के बाद घर में 5 लोग हो गए थे | जब मेरे भैया की शादी हो गयी थी तो मेरे भैया और भाभी के साथ में भी रहने लगा था | मैं जो आज कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है तो मैं आप सभी लोगो से आशा करता हूँ की आप लोगो को मेरी कहानी पसंद आयेगी और इस कहानी को पढने में आप लोगो को मज़ा तो जरुर आएगा | मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम न बर्बाद करते हुए सीधे कहानी को शुरू करता हूँ |

जब मैंने भाभी की बहन को भाभी की शादी में पहली बार देखा था तो मैं उसका दीवाना हो गया था | मैं उसको बहुत पसंद करता था पर मैं उससे बात करने में बहुत डरता था जिसकी वजह से मैं कभी उससे बात नही कर पता था | दोस्तों मैं आप लोगो को भाभी की बहन के बारे में बता देता हूँ | उसका नाम स्वीटी है और वो दिखने में बहुत गोरी है | उसकी उम्र 19 साल है और उसकी चढ़ती जवानी है जिसकी वजह से उसकी बदन गदराया हुआ था | उसकी चढ़ती जवानी को देखकर किसी की भी नियत डोल जाये | उसके मस्त बड़े बूब्स जोकि 36 इंच के है और उसकी मस्त चौड़ी गांड जिसको देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता था | जब वो चलती थी तो अपनी गांड को मटकती हुई चलती थी जिसको मैं देखकर मज़े लेता था | जब मैं अपनी भाभी के साथ घर में रहता था तो मैं भाभी से कभी कभी मजाक कर दिया करता था | मेरी भाभी भी किसी हिरोइन से कम नही है | मेरी और मेरी भाभी की कुछ अच्छी बनती थी जिससे मैं भाभी से अपनी सारी बाते बता दिया करता था और भाभी मुझे अपनी सारी बाते बता दिया करती थी | जब मेरी और भाभी की ऐसे ही कुछ दिन तक बाते चलती रही तो मैं एक दिन सही मौका देखकर भाभी से कहा की भाभी आपकी बहन स्वीटी मुझे अच्छी लगती है |

भाभी – हाँ तो इसका क्या मतलब है ?

मैं – भाभी मैं आपकी बहन को पसंद करता हूँ |

भाभी मुझसे बोली तो अच्छी बात है तो मैं क्या करूँ | तब मैंने भाभी से कहा की मैं आपकी बहन से प्यार करता हूँ तो आप मेरी मदद नही करोगी |

भाभी – मैं तुम्हारी कैसे मदद कर सकती हूँ |

मैं – भाभी मैंने अभी तुम्हारी बहन से इसके बारे में नही बताया है क्यूंकि मैं उसके सामने जाते ही मेरी आवाज नही निकलती है तो तुम उससे पूछ कर बताओ की क्या वो मुझसे प्यार करती है |

तब भाभी बोली अच्छा ये बात है ठीक है मैं उससे बात करके तुमसे बताती हूँ | फिर भाभी ने मुझे कुछ दिन बाद बताया की वो भी तुम्हे पसंद करती है पर तुमसे कहने में डरती थी ठीक तुम्हारी तरह | जब मुझे ये बात पता चली तो मुझे बहुत ख़ुशी हुई और मैंने भाभी को अपनी बाँहों में उठा लिया | मैंने भाभी को थैंक्स कहा और भाभी ने मुझसे कहा मैंने तुम्हारा इतना बड़ा काम किया है तो तुम मुझे पार्टी नही दोगे क्या | मैंने कहा क्यूँ नही और फिर मैं और भाभी बैठ कर कुछ देर तक बात की | अब मेरी और स्वीटी की बात फ़ोन पर होती थी और मैं उससे कभी कभी सेक्सी बाते भी करता था जिससे मेरा लंड खड़ा हो जाता था और उसकी चूत गीली हो जाती थी | इस तरह से कभी दिन हो गए तक मैंने भाभी से कहा की भाभी मैं स्वीटी से मिलना चाहता हूँ तो तुम ऐसा करो उसको किसी काम से यहाँ बुला लो | तब भाभी ने स्वीटी को मुझे लेने के लिए भेजा और जब मैं उसको लेने गया तो वो मुझे देखकर बहुत खुश हुई | जब मैं उसके घर पंहुचा था तो उसके घर पर उसकी मम्मी थी और कोई नही था | तब मैं और स्वीटी बैठ कर बात करने लगे और तब मैंने उससे कहा की आज बहुत मस्त लग रही हो | वो मुझे बहुत ही सेक्सी नज़रो से देख रही थी तो मैं मौके का फयदा उठाते हुए उसकी होठो पर एक छोटी सी किस कर दी | जब मैंने उसकी होठो पर एक छोटी सी किस कर दी तो वो मेरे कालर को पकड कर अपनी और खीच लिया और मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर मेरी होठो को चूसने लगी | दोस्तों घर में उसकी मम्मी के सिवा और कोई था भी नही तो मुझे भी इतना डर नही था क्यूंकि उसकी मम्मी काम कर रही थी | वो मेरी होठो को चूस रही थी और मैं उसकी होठो को चूसने के साथ उसके बड़े और चिकने बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को जब मसलने लगा तो उसकी सांसे तेज हो गयी जिससे मैं समझ गया की वो अब गर्म हो गयी थी |

तभी उसकी मम्मी ने उसे आवाजे देखकर कहा की मेरे लिए खाना लगा दें | तब उसने मेरे लिए खाना लगाया और मैंने खाना खाने के बाद उसे अपने साथ लेकर अपने घर चला आया | जब मैं उसे अपने घर लेकर चला आया तो मैंने भाभी से सारी बाते बताई तो भाभी ने कहा की कोई बात नही है तुम रात को उसके साथ ही सो जाना | मैं तुम्हारे भैया को संभाल लुंगी और उस रात मैं उसके साथ ही लेट गया | जब मैं उसके साथ लेटा था तो उसके मुंह से निकलने वाली गर्म सांसे मुझे मदहोश कर रही थी जिसकी वजह से मैं अपने आप पर कंट्रोल नही कर पा रहा था | मैं कुछ देर तक एक दुसरे को देखते रहे फिर मैंने उसकी गुलाबी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | जब मैं उसकी होठो चूसने लगा तो वो भी मेरी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगी और मैं उसकी होठो को चूसने के साथ उसके बूब्स को कपड़े के ऊपर से दबा रहा था | मैं उसके बूब्स को कपड़े के ऊपर से दबाने के साथ उसके कपडे निकाल दिए और साथ में अपने भी जिससे वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में थी और मैं उसके सामने बिना कपड़ो के था | मैं उसके सेक्सी जिस्म को देखकर पागल हो गया और उसके बूब्स को मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं उसके बूब्स को मुंह में रख कर चूसने लगा और वो मेरे सर को पकड कर अपने बूब्स पर दबाती हुई सेक्सी आवाजे कर रही थी | मैं उसके दोनों बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक चूसने के बाद उसकी पैंटी को निकाल दिया |

फिर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा | मैं जब उसकी चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा तो उसके मुंह से अह अह अह…. हूँ हूँ हूँ हूँ उई उई हाँ हाँ….. आ आ उई उई हाँ हाँ हूँ… की आवाजे निकल गयी | मैं उसकी ये आवाजे सुनकर उसकी चूत में अपनी ऊँगली भी घुसा दी और जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | मैं उसकी चूत को ऐसे ही 5 -7 मिनट तक चाटने के बाद अपने लंड को उसके हाथ में पकड़ा दिया | वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर घुटनों के बल बैठ कर मुंह में रख लिया | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | मैं अपने लंड को ऐसे ही 5 मिनट तक चुसाने के बाद उसकी टांगो को फैला कर उसकी चूत में लंड को घुसा दिया | मेरा लंड जैसे ही उसकी चूत में घुसा तो उसके मुंह से दर्द भरी सिसकियाँ निकल गयी | मैं उसकी ये आवाज सुनकर धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा | मैं उसकी चूत में ऐसे ही कुछ देर तक धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए चोदता रहा | फिर वो अपने बूब्स को मसलती हुई अह अह अह…. हूँ हूँ हूँ हूँ उई उई हाँ हाँ….. आ आ उई उई हाँ हाँ हूँ… की आवाजे करने लगी | मैं उसकी चूत में तेज धक्के कर दिए जिससे वो मेरे हर धक्के पर सेक्सी आवाजे करती हुई चुदाई का मज़ा लेने लगी | वो अपनी चूत को हिला हिला कर चुदने लगी और मैं उसके दोनों बूब्स को हाथ में पकड कर जोर जोर के धक्के मार रहा था | वो मेरे हर धक्के का मज़ा लेती हुई चुदती रही | फिर मैं उसको ऐसे ही 10 मिनट की मस्त चुदाई करने के बाद झड़ गया |

फिर हम दोनों ऐसे ही लेट गए और उस रात मैंने उसको दो बार चोदा था | वो जितने दिन मेरे घर रुकी थी मैंने उसकी उतने दिन मस्त चुदाई की थी और वो मेरे साथ चुदाई के मज़े लेती हुई चुदती रही |
      edit

0 comments:

Post a Comment