Sunday, January 14, 2018

Published 7:16 PM by with 0 comment

मौसी की गांड का स्वाद

हेल्लो मेरे दोस्तों आज मैं आप सब का बेसब्री से इंतज़ार कर रहा था क्यूंकि मुझे आपके साथ कुछ शेयर करना है | मैंने सोचा आज आपको मैं बता ही देता हूँ अपनी सच्ची कहानी और ये सुनके इतना चौंक मत जाना क्यूंकि रिश्तों में चुदाई आजकल आम बात हो गई है | कुछ भी कर सकते हो आप बस उमंग और लगन होनी चाहिए | इसलिए मैं आज आपके सामने प्रस्तुत हो गया हूँ जिससे आप उन सब लोगों को बुरी नज़र से ना देखे जो अपनी चाची बहन या माँ के साथ चुदाई करते हैं | मैंने तो अपनी मौसी को चोदा है पर ऐसे भी कई लोग हैं जिनोहने अपनी बहन को चोद दिया है | तो दोस्तों आज मैं आपको बताना चाहता हूँ अपनी यही दास्ताँ | दोस्तों बात तब की है जब मैं बाहर हॉस्टल में रहके पढ़ाई किया करता था शिमला में | मुझे मेरे माँ बाप अच्छी शिक्षा देना चाहते थे और उन्होंने इसके लिए काफी मेहनत भी की और मैं उनका शुक्रगुजार हूँ कि आज मैं एक अच्छा इंसान बन गया हूँ और खुद का बिज़नस चला रहा हूँ | मैं अपनी मौसी का भी धन्यवाद् करना चाहता हूँ जिन्होंने ने मुझे उपरी ज्ञान दिया और साथ में शारीरिक ज्ञान भी दिया | मुझे इन सब चीज़ों का पता ही नहीं चलता अगर मेरी मौसी न होती तो | दोस्तों मेरी उम्र लगभग 19 साल रही होगी जब मैं वहाँ पढ़े के लिए गया था और मम्मी ने कहा था मौसी के यहाँ रहना हॉस्टल में अच्छा न लगे तो | मैंने सोचा ठीक है पहले हॉस्टल में रहके देख लेता हूँ अगर अच्छा नहीं लगा तो मौसी के यहाँ चला जाऊँगा | मेरी मौसी नयी उम्र की है और वो बस 28 साल की होंगी और बहुत प्यारी और सुन्दर है दिखने में | मौसा जी को तो देखते ही प्यार हो गया था |
पर मौसी को मुझसे प्यार था क्यूंकि मैं उनका पहला भांजा था और आगे पीछे कोई नहीं था | उनका एक बेटा था वो गोद में था मतलब सर एक साल का था | मौसा जी भी कलेक्टर थे और उनका भी अच्छा ख़ासा रुतबा था पर वो मुझसे भी वही बनाना चाहते थे | उनको मुझसे बहुत उम्मीदें थी और मैंने भी उनकी उम्मीदों को कायम रखा मैं भी कलेक्टर बन्ने के लिए दिन रात मेहनत करने लगा | मौसा और मौसी मुझे अकेला नहीं रहने देते क्यूंकि उनके हिसाब से लड़का गलत संगती में आ सकता है | मैं ग्राउंड में दौड़ने के लिए जाता तो मौसा जी साथ होते और जब मुम्मी पापा आते मिलने के लिए तब तो वो जगह जन्नत बन जाती | हम सब लोग खुश थे फिर एक दिन अचानक मौसा जी जल्दी में घर आए और मौसी को कमरे में ले गए | उनकी कुछ बात होने लगी और मैंने सोचा मैं क्यूँ बीच में जाऊं नहीं तो मुझे गलत समझेंगे | पर ऐसा कुछ भी नहीं था फिर थोड़ी देर बाद मौसा जी की आवाज़ आई उन्होंने कहा अनुज बेटा ऊपर आओ | मैं जैसे ही अन्दर गया तो मौसा जी ने कहा बेटा तू रोज़ मेहनत करना और एक दिन भी चूकना मत | मैंने कहा पर आप तो हो न मैं कैसे चूक सकता हूँ मौसा जी | उन्होंने कहा बेटा अब मैं नहीं रहूँगा मुझे दूसरी जगह जाना पड़ेगा और शायद मौसी को ना ले जा पाऊं क्यूंकि तुम हो यहाँ पे | मैंने सोचा और कहा मौसा जी मैं वापस हॉस्टल चला जाऊँगा आप ले जाओ मौसी को | फिर मौसी और मौसा दोनों मेरे पास आए और कहा तुम हमारी ज़िम्मेदारी हो और हम इसे पूरा करके रहेंगे | फिर मौसी ने मुझे गले लगाते हुए कहा आप जाओ मेरा बेटा है न यहाँ मुझे कुछ नहीं होने देगा और अपने छोटे भाई को भी |
मेरा सीना गर्व से चौड़ा हो गया क्यूंकि वो लोग मुझपे बहुत भरोसा करते थे | अब अगले दिन मौसा जी चले गए और कहा बेटा ध्यान रखना सबका | मैंने कहा आप जाइए और यहाँ की फ़िक्र करना छोड़ दीजिये | अब मौसा जी के चेहरे पे एक मुस्कान थी और मौसी के चेहरे पे भी | फिर अगली सुबह से मैं प्रैक्टिस पे जाने लगा और अब मौसी मेरे साथ जाती ये कहते हुए कि मैं और भी ज्यादा सेक्सी बन जाउंगी जब तक मौसा जी आयेंगे | मैंने कहा वाह अभी आप कम हो जो और बनना चाहती हो | उन्होंने कहा बेटा अगर मौसा जी की जगह तू होता क्यूंकि मनाएँ तुझसे बहुत प्यार करती हूँ | मैंने सोचा मौसी कितनी प्यारी है यार मैं इनके लिए कुछ भी कर जाऊंगा | उसके बाद मुझे एक दिन मौसा जी का कॉल आया और उन्होंने पुछा क्यों कैसी चल रही है ट्रेनिंग तो मैंने कहा मौसा जी एक दम फाडू बोले तो मस्त | फिर मौसी ने कहा कम से कम कभी तो मेरे बच्चे को छोड़ दिया करो यार | उन्होंने कहा चलो अब मैं रखता हूँ अब जाने का समय हो गया है | मौसी ने कहा ठीक है आप जाओ और मन लगा के काम करो यहाँ सब ठीक है | मैंने मौसी को गले लगा लिया और मौसी ने कहा क्या हुआ बेटा मैंने कहा मौसी मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ | उन्होंने मुझे किस किया और कहा मेरी जान है तू | फिर मौसी ने बेबी को मुझे दिया और नहाने चली गयी | मैंने बेबी को अच्छे से सुला दिया और उसके बाद जब वो आई तो मैं उनके साथ खाना खाने लगा | मैंने मौसी से कहा सुनिए न मुझे अकेले नींद नहीं आएगी मैं आपके साथ सो सकता हूँ क्या ? उन्होंने कहा अच्छा जी आ जाओ मेरे पास | अब वो बेबी बीच मैं और मैं और मौसी उसे अगल बगल में सो गए | मैं थोड़ी देर बाद उठा तो मैंने देखा मौसी अपनी जगा पे नहीं है | फिर मैं मौसी को देखने गया तो मुझे कुछ आवाजें आ रही थी | मैंने उन आवाजों का पीछा किया तो मैं किचन में पहुंचा | मैंने जो देखा वो किसीने नहीं देखा | मैंने देखा मौसी अपनी चूत में केला डाल रही हैं और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी | मैं उनके पास गया और कहा मौसी ये क्या कर रही हो ? उन्होंने मुझे भी बैठा लिया और मेरा लंड खोल के बाहर निकाल लिया | पहले तो मुझे कुछ नहीं लगा पर बाद में जब मेरा लंड खड़ा हो गया तब मुझे भी मज़ा आने लगा और मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | मेरा माल गिर गया और मौसी वो सब पी गयी | फिर उन्होंने अपने दूध मेरे मुह से सटा दिए और बोला बेटा इनको चूसो |
मैं उनके दूध चूसने लगा और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | उसके बाद वो मेरा लंड फिर चूसने लगी और उसके बाद वो मुझे कहने लगी मेरी चूत को चाटो | मुझे कुछ आता नहीं था पर मौसी ने मेरा मुह खुद चूत पे लगाया और कहा इसको यहाँ से चाटो | जैसे ही मैंने चाटना शुरू किया वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी और आधे घंटे बाद आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए झड़ गयी |
फिर उन्होंने मेरा लंड पकड़ा और अपनी चूत में डाला और आगे पीछे होने लगी और हम दोनों आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगे | उसके बाद मैंने 25 मिनट तक मौसी को वैसे ही किया और उतने में मेरा माल निकल गया | मैंने फिर मौसी से कहा मुझे अच लग रहा है और करना है मैंने फिर मौसी की गांड में अपना लंड डाला और उनको खूब चोदा | अब तो मेरे लिए ये रोज़ का हो गया था पर मौसी अब मेरे लंड पे कंडोम लगा देती है चुदाई के पहले |
      edit

0 comments:

Post a Comment