Wednesday, January 10, 2018

Published 8:42 PM by with 0 comment

मेरी दोनों रंडी बहन की झांट वाला चूत

नमस्ते दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी अच्छे होंगे और अपनी चुदाई भरी दुनिया में हसीन दिन और राते बीत रहे होंगे | आप सभी का इस चुदाई भरी कहानी में स्वागत है | मेरा ये मानना है कि चुदाई एक बहुत अच्छी कला है बस इसे करने के तरीके आप सभी को पता होने चाहिए | जिन्होंने चुदाई की होगी उन्हें पता भी होगा कि अलग अलग पोजीशन सेक्स को किया होगा उन्हें कितना मजा आता है | जिन्होंने कभी चुदाई ही नही किये होंगे वो तो बस रातो में चड्डी गन्दी करते होंगे या बिस्तर ख़राब करते होंगे | खैर, मेरा नाम अरुण है और मैं रामगढ का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 26 साल है और मैं दिखने में अच्छा हूँ | मेरी कदकाठी भी अच्छी है | मेरी हाईट 5 फुट 11 इंच है | मेरे लंड का साइज़ 7 इंच लम्बा और ३ इंच मोटा है | दोस्तों आज जो मैं आप लोगो के सामने अपनी कहानी लिखने जा रहा हूँ ये मेरी पहली कहानी है और मेरे जीवन की एक दम सच्ची घटना है | मैं आशा करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी बहुत पसंद आयगी और मेरी ये कहानी पढ़ कर आप लोग उत्तेजित हो जाओगे और अपना आपा खो कर बस मुठीयाने बैठ जाओगे | तो अब मैं आप लोगो का ज्यादा समय ना लेते हुए अपनी कहानी शुरू करता हूँ |

ये घटना पिछले साल पहले की है जब मैं घर पर ही रहता था पर अभी मैंने किराने की दूकान डाल लिया हूँ तो मेरा ज्यादातर टाइम वही बीतता है | मेरे घर में मैं हूँ और मेरे अलवा मम्मी और पापा है | मेरे पापा स्कूल टीचर हैं और मम्मी कॉलेज में प्रोफ़ेसर हैं | मेरी बुआ की दो बेटी है एक का नाम रिद्धि है और दुसरे का नाम सिद्धि है | दोनों ही दिखने में बहुत सुन्दर हैं और दोनों का फिगर कातिलाना है | जब हम सभी छोटे थे तो बचपन में छुपन छुपाई खेला करते थे | अब बचपन में उतना ज्ञान तो था नही इसलिए मैं और सिद्धि जो कि बड़ी बहन है कभी कभी लाइट बंद कर के किस कर लिया करते थे और ऊपर ही ऊपर सेक्स कर लिया करते थे | ये सब बात रिद्धि को नही पता थी कि मैं और सिद्धि ऐसा करते थे | एक दिन की बात है रिद्धि के एग्जाम का सेंटर यहाँ रामगढ में पड़ा तो उसका कॉल आया कि मुझे स्टेशन लेने आ जाना मैं कुछ दिन वहाँ रुकुंगी भी और पेपर भी दे दूंगी | मैंने ये बात घर में बता दिया कि रिद्धि घर आ रही है तो मेरे घर वाले भी खुश हो गये कि चलो रिद्धि इतनी बड़ी हो गई है कि अकेले सफ़र कर सकती है | वैसे रिद्धि कि उमे 24 साल है और फिगर सिद्धि से ज्यादा अच्छा है क्यूंकि रिद्धि बहुत गोरी है उसका फिगर गदराया हुआ है रिद्धि सिद्धि से बहुत ज्यादा मस्त है | मेरे पास पल्सर गाड़ी है तो मैं उसी से उसे लेने स्टेशन गया | उसने ज्यादा सामान नही लायी थी तो उसने एक बड़ा बैग लिया हुआ था जो उसने कंधे में टांगा हुआ था | अब मैं उसे बाइक पर बैठा कर ला रहा था घर | रस्ते में गड्ढे और स्पीड ब्रेकर की वजह से बार बार मुझे डिस्क ब्रेक मारना पड़ रहा था तो उसके दूध बार बार मेरी पीठ पर लगते जिस वजह से मेरा लंड खड़ा हो गया | उसने मुझसे कहा कि क्यू रे कुछ ज्यादा ही मजे ले रहा है | उसकी ये बात सुन कर मैं दंग रह गया कि ये तो कुछ ज्यादा ही फॉरवर्ड हो गई है तो मैंने भी मजाक में बोल दिया हाँ अब तेरा फिगर बहुत सेक्सी हो गया है तो सोच रहा हूँ कि मजे ले ही लूं |

तो उसने बड़े ही ख़ुशी के साथ पूछा कि सच में मेरा फिगर सेक्सी है ? तो मैंने कहा हां सच में तू सेक्सी है | ये बात सुन कर हम दोनों की आपस में ऐसे ही बात होने लगी और फिर कुछ देर बाद हम घर पंहुच गये | उस समय मेरा घर खाली था और उसे पता है कि मेरे मम्मी पापा दोनों ही जॉब करते हैं | इसके बाद मैंने उससे कहा कि दूर से आई है जा तू फ्रेश हो जा और फिर आराम करना | दोपहर में 2 बजे पापा आ गये और ३ बजे मम्मी घर आ गई तो वो उन्ही से गपशप करने बैठ गई | ऐसे ही शाम होने को आ गई और फिर मैं अपने दोस्तों के पास चला गया | रात में मैं करीब 8 बजे आया तो उसने मुझसे कहा कि तू क्या खायगा खाने में मैं तेरे लिए बना देती हूँ तो मैंने पालक पनीर कहा | फिर वो किचन में चली गई और मैं अपने कमरे में आ गया | जब खाना रेडी हो गया तो खाना साथ में खाया और खूब बाते भी की और उसके बाद टीवी देखे और सोने चल दिए अपने अपने रूम | रिद्धि ने कहा कि चल मैं तेरे कमरे चलती हूँ तुझसे बहुत सारी बात करनी है | मैंने भी कह दिया चल | जब हम रूम में आये तो उसने मुझसे सबसे पहले पूछा कि तेरी कोई गर्लफ्रेंड है ? तो मैंने कहा कि नही यार मेरी गर्लफ्रेंड नही है | मैंने भी उससे यही सवाल पूछा तो उसने कहा कि मेरा एक बॉयफ्रेंड था पर उससे ब्रेकअप हो गया | तो मैंने ज्यादा नही पूछा और फिर उसने अचानक से ये पूछ लिया कि तूने कभी सेक्स किया है तो मैंने कहा नही और फिर मैंने पूछा तो उसने कहा कि नही मैंने सेक्स नही किया पर हां मैं कभी कभी चूत में ऊँगली डाल कर सहला लेती हूँ | उसकी बात सुन कर मैं बहुत ज्यादा उत्तेजित हो गये तो मैंने डायरेक्ट उससे कह दिया कि मेरे साथ सेक्स करेगी तो उसने भी हाँ कर दिया और तुरंत करने को तैयार हो गई तो मैंने कहा कि अभी नही कल | फिर हम ऐसे ही सेक्सी बात करते करने लगे और 12 बजे सो गये | अगले दिन जब मम्मी और पापा दोनों चले गये | हम दोनों बस उनके जाने का ही वेट कर रहे थे और जैसे ही गये |

मैंने दरवाजा बंद किया और उसे अपनी बांहों में भर कर किस करने लगा | वो भी मेरा साथ देने लगी और किस करने लगी | हम दोनों ने करीब 10 मिनट तक किस किया और उसके बाद मैंने उसके टॉप को निकाल दिया और फिर ब्रा को भी अलग कर दिया | फिर मैं उसके दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर जोर जोर से मसलते हुए चूसने लगा तो उसके मुंह से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः की सिस्कारिया निकलने लगी | मैं जोर जोर से उसके दूध को चूस रहा था और वो भी सिस्कारिया लेने लगी | उसके बाद उसने हाफ पेंट और अंडरवियर को भी उतार दी और मेरे लंड को अपने मुंह में ले कर चूसने लगी तो मैं आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | वो मेरे लंड को जोर जोर से आगे पीछे करते हुए चूस रही थी और मैं सिस्करिया लेते हुए उसके मुंह को चोद रहा था |

फिर मैंने उसे लेटा दिया और पूरा नंगा कर दिया | उसके बाद मैंने उसके पैरो को फैलाया और उसकी चूत चाटने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए मेरा सिर अपनी चूत पर दबाने लगी | मुझसे इन्तजार नही हो रहा था तो मैंने सीधा उसकी चूत पर अपना लंड रगड़ते हुए अन्दर डाल दिया और धक्के लगाते हुए चोदने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से धक्के लगाते हुए चोदने लगा तो वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए अपनी गांड उठा उठा कर चुदवाने लगी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने उसके मुंह के ऊपर ही अपना माल निकाल दिया |
      edit

0 comments:

Post a Comment