Thursday, January 11, 2018

Published 11:01 PM by with 0 comment

चोदने का मन हो तो चूत मिल ही जायेंगे

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम है सूरज उर्फ़ ऋतिक मैं बहुत ही बड़ा चोदु हूँ और लोग मुझे बक्चोद भी कहते हैं | मैं एक ऑफिस में काम करता हूँ और उसी के सामने एक लड़की रहती है जिसका नाम है ख़ुशी पर ऑफिस के सभी लोग उसको नागिन बोलते हैं क्यूंकि उसकी आँखे कंजी हैं | उसके घर में एक भाई जिसका नाम भालू है और उसका छोटा भाई जिसका नाम सपोला है और एक जोड़ी माँ बाप उनका नाम सपेरा और इच्छाधारी नागिन है | तो ये हुई उसकी बात अब मैं आपको अपने बारे में बताने जा रहा हूँ | मेरा नाम तो आपको पता ही है पर आपको मैं ये भी बताता हूँ कि मैं करता क्या हूँ और मैं ये भी बताऊंगा कि मैंने ख़ुशी को कैसे चोदा | तो दोस्तों मैं एक इंजीनियर हूँ और डांस भी करता हूँ | मैंने कई बार ऋतिक को कॉपी करने की कोशिश की है पर मेरे दोस्त कहते हैं वो बहनचोद बकलोल किसी काम का नहीं है | इसलिए मैं अब उनको बताये बिना डांस करता हूँ और सुबह सुबह स्टेडियम जाता हूँ | मैंने सोचा नहीं था कि मैं ख़ुशी को कभी चोद पाउँगा पर मैंने ऐसा जाल बिछाया कि वो साली मुझसे फस गयी |

मैंने कई बार उसको दाना डाला पर वो मुझे घास नहीं डालती थी क्यूंकि उसका भाई भालू हमेशा बीच में आ जाता था | पर मुझे ख़ुशी को पटाके चोदना था इसलिए मैंने जैसे तैसे उसको फ़साने का तरीका निकाल लिया | वो कोचिंग जाती थी और मैंने उसकी कोचिंग का पता लगाने के लिए उसका पीछा किया और उसकी कोचिंग का पता लगाया | अब मैं हर दिन उसकी कोचिंग के पास जाने लगा और मैंने उससे बात करने के लिए उसकी दोस्त को पटाना शुरू किया | उसकी दोस्त ने मेरा काम थोडा आसान किया और ख़ुशी से मेरी पहचान करवाई | मैंने ख़ुशी से बात करना चालु किया तो उसने मुझसे बहुत अच्छे से जवाब दिया | उसने कहा देखो पट जाउंगी पर मुझे आधे रास्ते में मत छोड़ना | मैंने कहा ठीक है तो फिर उसके बाद हमारा घूमना फिरना शुरू हो गया और मैंने नभी ख़ुशी को पूरा जान लिया | मुझे तो ये भी पता चल गया था कि वो अपने भाई से चद चुकी है | उसने मुझे अपनी फॅमिली के बारे में ज्यदा कुछ नहीं बताया था पर उसने ये कहा था कि तुम खुद आके देख लेना |

मने भी सोचा मस्त फॅमिली होगी इनकी इसलिए तो लड़की इतने खुले विचारों वाली है | मैंने भी मन बना लिया कि अब इस माल को मैं भी चोदुंगा और इसके बाद मैं इसको छोड़ के चला जाऊँगा | एक दिन ख़ुशी मेरे पास और उसने मुझसे कहा चलो घर चलते हैं | मैं तैयार हो गया और मस्त नए कपडे पहनके उसके साथ निकल गया | जैसे ही मैं घर पहुंचा तो मुझे आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः की आवाज़ आ रही थी तो मैंने ख़ुशी से पूछा ये क्या है ? उसने कहा अन्दर तो चलो | मैं जैसे ही अन्दर गया तो देखा पूरे कमरे में ब्रा पेन्टी और कंडोम फैला हुआ था | और एक कोने में एक लड़का किसी आंटी को चोद रहा था | ख़ुशी मुझे वही लेकर गयी और कहा ये है मेरी मम्मी और मेरा छोटा भाई | मैंने बोला तुम लोग ऐसे ही परिवार में चुदाई करते रहते हो | उतने में ही ख़ुशी का भाई भालू आया और उसने ख़ुशी के छोटे छोटे दूध दबाना चालू कर दिया | ख़ुशी भी उसका लंड मसलने लगी और वो दोनों नंगे होने लगे | थोड़ी देर बाद वो ख़ुशी की चूत में ऊँगली करने लगा और वो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी | फिर ख़ुशी ने उसका लंड मुह में लिया और चूसने लगी | वो भी आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करते हुए मज़े लेने लगा |

ये सब देखके मरता भी लंड खड़ा हो गया और मैंने भी अपने कपडे उतार दिए | उसकी माँ मेरे लंड की तरफ देख रही थी तो मैंने सीधे अपना लंड उसके मुह में डाल दिया और जैसे ही उसने चूसना शुरू किया मेरी आंहे निकलने लगी | मैं बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करता रहा | थोड़ी देर बाद मेरा माल निकल गया | अब उसके छोटे भाई ने उसकी माँ को बिस्तर पे लेटा दिया और गांड चोदने लगा | मैं भी मस्ती में था और मैंने भी नीचे लटके उसकी चूत में अपना डाल दिया | वो अब जोर जोर से आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी और मैं भी और उसका भाई भी | उसकी माँ की चूत मस्त थी और 20 मिनट बाद मैंने अपना माल उसकी चूत में छोड़ दिया | ख़ुशी भी अपने भाई से चुदते हुए आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रही थी और मज़े ले रही थी | मैं भी उसके पीछे गया और उसकी गांड के छेड़ में अपना लंड टिका के अन्दर करने लगा पर वो टाइट था |

मैंने वही पड़े हुए एक कंडोम के पैकेट से एक निकाला और पहन के उसकी गांड में एक बार में लंड को पेल दिया अन्दर तक | वो पागल हो गयी दो लंड की चुदाई पाकर | वो मस्ती में आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगी और मैंने उसको भी आधे घंटे तक चोदा | वहाँ चारों तरफ चुदाई चल रही थी कभी ख़ुशी को मैं चोदता तो कभि उसके भाई कभी मैं उसकी माँ के दूध पीता और उसकी चूत मारता | क्या नज़ारा था वहाँ का बस आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः के अलावा कुछ सुनाई नहीं दे रहा था |

उसके बाद मैंने ओचा अब मुझे जाना चाहिए तो उसका भाई भालू आया और कहने लगा मेरी गांड मार साले और सपोले से अपना लंड चुस्वाने लगा | मैंने सोचा मैं लड़का होकर लड़के की गांड कैसे मार सकता हूँ पर खुसी और उसकी माँ एक दुसरे की चूत से खेल रही थी तो मैं भी सोचा चलो कर लेता हूँ | मैंने अपना लंड उसकी गांड पे टिकाया और एक झटके में पूरा लंड अन्दर उतार दिया | वो चिल्ला पड़ा और कहने लगा जोर से चोद मुझे और आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः करने लगा | थोड़ी देर बाद सपोला त्रैयार हो गया और अब मैंने उसकी गांड चोद्ने के लिए लंड निकाला और भालू मेरी गांड मारने लगा | मैंने सपोले की गांड में लंड डाला तो लगा जैसे कई बार इसकी गांड मारी गयी है | वो और मैं और भालू तीनो आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः आआहाआह ऊउन्न् आहाहाह ऊउम्म्म ऊनंह अआहा आअह्ह्हाअ अहहहः अहहाआअ ऊउन्न ऊउम्म्ह आआनाहा ऊउन्न्ह ऊम्म्ह आहाहाहा ऊनंह ऊउम्ह आहाहहा ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह अहहहः कर रहे थे | उसके बाद मैंने तबीअत से सबको चोदा और मेरा लंड भी सब ने चूसा और मज़ा आ गया था मुझे तो | आखिर में मैंने ख़ुशी को चोदा और उसकी माँ से अपना लंड चुस्वाया और अपना माल उन दोनों के दूध के ऊपर गिरा के आ गया | आज भी मैं वहाँ जाता हूँ और खूब चुदाई मचाता हूँ |
      edit

0 comments:

Post a Comment