Friday, January 5, 2018

Published 8:24 PM by with 0 comment

बड़ी दीदी को उसीके रूम में चोदा

हाय दोस्तों कैसे हो ? मुझे उम्मीद है की सभी मेरे दोस्त ठीक ही होगे | दोस्तों आज मैं एक कहानी को लेकर आप सभी दोस्तों की सेवा में हाजिर हूँ | ये कहाँ करीब 1 साल पहले की है जब मैं 12 में पढता था और दोस्तो आप सभी को तो पता ही होगा की इस उम्र में सेक्स करने की इच्छा ज्यादा ही बढ़ जाती है और मेरा मानना है की इस उम्र की लड़कियों को भी चुदाई करने में मज़ा आता है | दोस्तों अब मैं अपनी कहानी शुरू करने से पहले अपने बारे में कुछ बता दूँ | मेरा नाम अनस है | मैं 18 साल का हूँ | मैं रहने वाला तो अमृतसर का हूँ पर मैं पढाई की वजह से अपनी मौसी के घर ही रहता था | मैं दिखने में गोरा हूँ | मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है और मेरी बॉडी भी ठीक है जिससे मैं स्मार्ट लगता हूँ | मेरे लंड को साइज़ भी ठीक ही है इतना बड़ा और मोटा है की किसी की भी चूत को गुफा बना दे | मैं जो कहानी आप लोगो के सामने लाने जा रहा हूँ ये मेरी पहली चुदाई की कहानी है | मुझे उम्मीद है की आप सभी लोगो को ये कहानी पंसद आयेगी और इस कहानी को पढने में आप लोगो के लंड का पानी जरुर निकल जायेगा | अब मैं अपनी कहानी शुरू करता हूँ |
जैसा की मैं बता चूका हूँ की मैं अपनी मौसी के यहाँ रहता हूँ और मैं अपनी मौसी के यहाँ तब से रहता हूँ जब मैं 5 साल का था | मेरी मौसी की एक लड़की है जिसका नाम रेशमा है और वो मुझसे 1 साल बड़ी है | वो बचपन में तो दिखने में नही अच्छी लगती थी लेकिन अब वो दिखने में सेक्सी लगती है | मैं अपने बचपन से ही रेशमा के साथ लेटता था और मैं रेशमा एक दुसरे से लड़ाई भी बहुत करते थे | अब मैं और रेशमा एक ही कॉलेज मे पढ़ते हैं और वो भी 12 में ही है | मैंने ये कभी नही सोचा था की मैं अपनी पहली चुदाई रेशमा के साथ करूँगा | मैं रेशमा जब कॉलेज जाते तो रेशमा मेरा हाथ पकड कर साथ में जाती थी | जब हम कॉलेज से घर के लिए निकलते थे तो मैं और रेशमा किसी – किसी दिन होटल से खाना खा लेते थे और जिस दिन हम होटल से खाना खाके जाते थे उस दिन मुझे मौसी से रेशमा डांट भी खिला देती थी | फिर मैं और रेशमा पढाई करते फिर साथ में ही सो जाते थे |
एक रात की बात है जब मेरा लंड लोहे की तरह खड़ा था और मेरा मन चुदाई का कर रहा था | तब मैं चुप चाप बिस्तर से उठ कर टॉयलेट में जाके मुठ मर ली क्यकि मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड नही थी | उस रात की बात है जब मैं और रेशमा लेते थे तब रेशमा ने मुझसे पूछा की अनस तेरी कोई गर्लफ्रेंड है तो मैंने कहा की नही और तुम्हारा बॉयफ्रेंड तो उसने भी कहा नही | फिर हम दोनों ऐसे ही बाते करते हुए सो गए | वो मुझसे मस्ती भी किया करती थी | फिर जब हम कॉलेज जा रहे थे तो वो मुझसे मेरे हाथ को पकड कर जोर जोर से दबा रही थी | उसके बाद जब हम घर आये और खाना खा कर खेलने लगे उस दिन मैं उसे लूडो में हरा दिया था तो वो मुझे से नाराज हो गयी थी | फिर रात हो गयी और हम सोने चले गए | जब मैं लेटा था तो वो मेरे हाथ को अपने हाथ से पकड कर लेटी थी और मुझसे बात कर रही थी साथ में मेरी टांगो को अपनी टांगो के बीच में दबाये हुए थी | हम दोनो ऐसे ही बात करते रहे और फिर उसने मेरे माथे पर एक छोटी से किस की और बोली मेरे राजा अब सो जाओ सुबह जल्दी उठाना पड़ेगा | मैं और रेशमा तब सो गए फिर जब सुबह उठे तब नहाने के बाद मैंने नाश्ता किया और फिर हम दोनों कॉलेज जले गए | उसके बाद जब कॉलेज में छुट्टी हुई तब मैं और रेशमा घर के लिए निकल पड़े तब वो मुझसे रास्ते में मस्ती कर रही थी | वो कभी मेरे हाथ को पकड कर चुटी काट लेती तो कभी मेरे गालो पर हाथ मार देती हम दोनों ऐसे ही मस्ती करते हुए घर पहुचे तो मैंने रेशमा की शिकायत मौसी से कर दी तो मौसी बोली मुझे नही पता है तुम दोनों ही जानो | तब मैं खाना खाने के लिए कुर्सी पर बैठा था और वो मेरी गर्दन दबाने लगी तो मौसी बोली उसको खाना खा लेने दो फिर जितनी लड़ाई करनी है करना |

फिर मैं खाना खाने के बाद जब लेटने के लिए गया तो वो जैसे मेरा ही इंतजार कर रही हो और मेरे पर टूट पड़ी | फिर हम दोनों ही बेड पर लड़ाई करने लगे | वो मेरे ऊपर बैठ गयी और उसके जिस्म के टच होने से मेरा लंड खड़ा हो गया | वो मेरे ऊपर बैठ कर मुझे मार रही थी जिससे उसके बूब्स मुझे दिख रहे थे और मेरे हाथ भी उसके बूब्स में टच हो जाते थे | जिससे मेरे शरीर में करंट सा लग गया वो मुझसे ऐसे ही कुछ देर तक लड़ाई करने के बाद चुप चाप लेट गयी और मेरे हाथ को अपने हाथ में पकड कर बड़े ही प्यार के साथ मेरे होठो को चूमती हुई मेरे माथे पर किस करके बोली सो जाओ | तब मुझे लगा की ये मुझसे चुदना चाहती है | उस रात मेरा खड़ा था और मैं अपने लंड को उसकी गांड तक ले जाकर उसकी गांड से रगड़ने लगा तो वो चुपचाप लेटी रही | फिर कुछ देर बाद उसके स्पर्स से मेरे लंड का पानी निकल गया और उसे लगा की कुछ गिला सा लग रहा है तो उसने मुझसे कहा की तूने बिस्तर पर पेशाब किया है क्या पर मैं सोने का नाटक कर कर था | फिर उसने अपनी ऊँगली से उसको सुंघा और फिर उसे चाट चाट कर साफ कर किया |
फिर सुबह उसने मुझसे कहा की कल रात में तूने क्या किया था तो मैंने मुझे पता है रात में तुमने क्या किया था मौसी को बोलता हूँ और मैंने मौसी मौसी आवाज लगाई तो वो मेरी गर्दन दबाने लगी और बोली कुछ भी कहाँ तो तुझे मार डालूंगी | जब मौसी आई तो बोली क्या है बेटा तब मैं मौसी से बोला की ये रात में लाते मरती है और दिन में गला दबाती है ये मुझे जीने नही देगी क्या | तब मौसी ने कहा तुम भी इसका गला दबा दिया करो उस टाइम मेरे कॉलेज में छोट्टी चल रही थी तो मौसी को थोडा काम था | वो मेरे घर चली गयी उस दिन मैं और रेशमा घर पर अकेले ही थे | उस दिन जब घर पर कोई नही था तो मैं और रेशमा लड़ाई कर रहे थे और उसने मेरी होठो पर किस कर दी तब मैं बोला की तुमने मेरी होठो पर किस क्यों की तो उसने कहा मेरा मन था मैंने कर दिया | फिर रात में जब वो मेरे पास लेटी थी तो मैंने भी उसकी होठो पर किस करते हुए उसके बूब्स को दबा दिया तो वो मचल गयी और बोली तुमने मुझे किस क्यों किया तब मैंने भी कह दिया तुम करती हो तो मैं कुछ बोलता हूँ हम यही बाते करते हुए सो गए |

फिर सुबह उठ कर नाश्ता किया और फिर जब रात में हूँ दोनों लेटे थे तो उसने मेरे लंड को पेंट के ऊपर से सहलाने लगी तो मुझे लगा की ये गर्म है और चोदना चाहती है | मैं उसकी होठो पर किस करने लगा और साथ में उसके मस्त चिकने बूब्स को दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाने के साथ मैं उसके कपडे भी निकाल दिए और अपने भी तब हम दोनों ही बिना कपडे के थे | मैं उसके कपड़े को निकलने के बाद मैं उसके गोल और चिकने बूब्स को मुंह में रख कर चूसने लगा | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूस रहा था और दुसरे वाले दूध के निप्पल को उँगलियों से घुमा घुमा कर मसल रहा था | फिर मैं उसके निप्पल को मुंह से पकड कर खीच खीच कर चूसने लगा तो उसके मुंह से सेक्सी आवाजे निकलने लगी ह्ह्ह ऊऊ आआआआ…. उई उई उई माँ… उई मई उई माँ… की आवाजे निकल गयी | मैं उसके बूब्स को ऐसे ही 5 मिनट तक चूसता रहा | फिर उसकी टांगो को फैला कर उसकी चूत में अपने मुंह को घुसा कर उसकी चूत को चाटने लगा तो उसके मुंह से ऊऊऊऊ… आआआआ.. उई उई उई माँ… हु हु हु हु… उई उई उई मई उई माँ… सी सी सी सी…. की सिसिकियाँ लेती हुई अपनी चूत को चटवा रही थी | मैं उसकी चूत को चाटने के साथ में अपनी ऊँगली भी उसकी चूत में घुसा दी और वो मचल गयी और मदहोश करने वाले आवाजे करती हुई अपनी चूत को सहलाने लगी | मैं उसकी चूत को ऐसे ही 5 -6 मिनट तक चूसता रहा जब उसकी चूत पूरी तरह से गीली हो गयी | तब मैं उसकी टांगो को फैला कर अपने लंड के टोपे पर थूक लगा कर उसकी चूत के मुंह पर लंड को रख दिया तो वो बोली मेरे राजा प्यार से ये मेरी पहली चुदाई है तब मैंने भी बताया मेरी भी ये पहली चुदाई है | फिर मैंने उसकी चूत में अपने लंड को धीरे से अन्दर घुसा दिया तो उसके मुंह से चीख निकल गयी उई उई मई मर गयी और उसकी चूत से खून निकल पड़ा | मैं फिर से उसकी चूत में अपने लंड को डाल कर धीरे शिरे अन्दर बाहर करने लगा | वो कुछ देर तक तो दर्द की वजह से सेक्स करने में मेरा साथ नही दे पा रही थी | फिर वो ऊऊ ह्ह्ह गग्ग फ्फ्फ… आआअ…. उई उई उई माँ… उई मई उई मई… की आवाजे करती हुई अपने बूब्स के निप्पल को मसलती हुई चुदने लगी | मैं भी उसकी चूत में जोर जोर के धक्के के साथ उसकी चूत में अन्दर बाहर करते हुए उसे चोदने लगा | मैं उसे मस्त जोरदार धक्को के साथ चोद रहा था और वो अपनी चूत को आगे पीछे करती हुई चुद रही थी | मैं उसे ऐसे ही जोरदार धक्को के साथ उसको 15 – 17 मिनट तक मस्त चुदाई करने के बाद अपने लंड को चूत से निकाल कर उसके मुंह में डाल कर सारा माल निकाल दिया | अब मुझे जब ही मौका मिलता है तो मैं उसकी मस्त चुदाई करता हूँ और वो भी मुझसे चुदती है |
मुझे उम्मीद है की आप सभी को मेरी कहानी पढने में मज़ा आया होगा |
      edit

0 comments:

Post a Comment