Friday, January 12, 2018

Published 11:11 PM by with 0 comment

भांजी की चुदाई उसीके घर में

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम मोहन है और मैं आज आप लोगो की सेवा में एक बार फिर से अपनी कहानी को लेकर हाज़िर हूँ | मैं जो आज कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ | ये मेरी दूसरी कहानी है | दोस्तों मुझे सेक्सी कहानी पढना बहुत पसंद है और मैं सेक्सी कहानी कभी सालो से पढता आ रहा हूँ | मैं अभी तक बहुत कहानी पढ़ी है और मैं जो कहानी अभी तक पढ़ी है | वो कहानी मुझे बहुत पसंद आई हैं तो दोस्तों में कहानी को शुरू करने से पहले अपने बारे में बता देता हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मेरा रंग बहुत गोरा हैं बिलकुल दूध की तरह | मेरी हाईट 6 फुट 3 इंच है | मेरी हाईट ठीक है जिससे में दिखने में स्मार्ट लगता हूँ | मुझे चुदाई करना बहुत पसंद है और मैंने अभी तक कई लड़कियों को चोद चूका हूँ | दोस्तों मैंने अभी तक जितनी लड़कियों की चुदाई की है उनको चुदाई का पूरा मज़ा दिया है और वो लड़कियां मुझसे चुदने में बहुत मज़ा लेती है क्यूंकि मेरा लंड काफी बड़ा और मोटा है जिससे में लड़कियों को खुश कर सकता हूँ | मैं जो कहानी आप लोगो के सामने पेश करने जा रहा हूँ ये मेरी चाची की भांजी की कहानी है और मैंने उसको उसके घर में ही चोद कर खुश किया था | मुझे भी उसकी चुदाई करने में बहुत मज़ा आया था | मैं आप लोगो का ज्यादा टाइम न लेते हुए सीधे कहानी शुरू करते हूँ |

ये कहानी अभी कुछ दिन पहले की है जब मैं अपनी चाची को लेकर उनके घर गया था | उसी टाइम की बात है की चाची की भांजी शहर से पढाई करके घर आई थी | दोस्तों जब मैंने उसे पहली बार देखा था तो मुझे इतनी अच्छी नही लगी थी पर उस दिन मैं उसे देखता ही रह गया था और मैंने उसे जैसे ही देखा तो मेरे मन में उसकी चुदाई की इच्छा आ गयी थी | मुझे नही पता था की मेरा उसकी चुदाई का सपना इतनी जल्दी पूरा हो जायेगा | दोस्तों मैं आप लोगो को इसके बारे में बता देता हूँ | उसके नाम रानी था और वो दिखने में दूध से भी ज्यादा गोरी थी | उसकी उम्र 18 साल थी और उस टाइम उसकी चढ़ती जवानी थी जिसकी वजह से वो और भी ज्यादा सेक्सी लगने लगी थी | रानी का बदन उसकी जवानी की वजह से गुलाब की तरह खिल गया था | उसके सेक्सी फिगर देखकर किसी के भी लंड का पानी निकल जाये | रानी के बूब्स भी कभी बड़े हो गए थे और उसकी गांड तो बहुत ही सेक्सी और बड़ी थी जोकि उसके चलने पर मटकती चलती थी | जब मैं उसकी मटकती गांड को देख लेता तो मेरा लंड मेरी पैन्ट को ऊपर चढाने लगता था | मैं उस दिन चाची के साथ वहीँ रुक गया | जब मैं रुक गया तो मैं रानी से बात करने के बारे में सोचने लगा | मैं कुछ देर बाद उसके पास गया और उससे ऐसे ही बाते करने लगा | मैं रानी से जब बात करने लगा तो वो मुझे बात करने लगी |

मैं – रानी तुम्हारी पढाई कैसी चल रही है ?

वो – अच्छी और तुम्हारी ?

मैं – मेरी एकदम मस्त चल रही है |

वो मेरे हाथो को सहलाती हुई मुझसे बोली यार तुमने बॉडी बहुत अच्छी बना रक्खी है |

मैं – हाँ वो तो है ही |

हम दोनों ऐसे ही कुछ देर तक बात करते रहे तब उसने मुझसे कहा की तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड बनी है |

मैं – हाँ पहले बनी थी पर अब नही है |

वो – क्यूँ क्या हुआ था तुम्हारे और उसके बीच अच्छा अब नही है तुम्हारी गर्लफ्रेंड |

मैं – छोड़ो यार तुम ये सब अपने बारे में बताओ की तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है |

वो ये बात सुनकर मुझसे बोली की मुझे एक लड़का पसंद तो है पर मैं उससे कह नही पाई अभी तक | मैं ये बात सुनकर हैरान हो गया और मुझे लगा की रानी की चुदाई का सपना तो मेरा सपना ही रह जायेगा क्यूंकि वो तो किसी और को पसंद करती है | मैंने तब उससे कहा की क्या वो लड़का तुमसे बात करता है |

वो – नही कभी नही हुई थी और मैं उसे 1 साल पहले से पसंद करती हूँ पर मैंने उससे अभी बात की है |

मैं – तो उसका नाम तो जानती ही होगी |

वो – हाँ और उसने मेरा नाम लिया और मेरी तरफ अपनी ऊँगली की |

दोस्तों उसके कहने का मतलब में समझ गया था और मुझे उसकी ये बात सुनकर बहुत अच्छा लगा | मैंने भी उसकी बात सुनकर कह दिया की मैं भी तुम्हे पसंद करता हूँ पर कभी कह नही पाया | वो मेरी ये बात सुनकर मुझसे बोली की जब मैंने तुम्हे पहली बार बुआ की शादी में देखा था | मैं तुमसे तब से प्यार करती हूँ और तुमसे बतना भी चाहती थी पर मैं कभी तुमसे मिल ही नही पाई | दोस्तों उस दिन मुझे बहुत ख़ुशी हुई और मेरा जो सपना था उसकी चुदाई का वो मुझे पूरा होता हुआ नजर आया | उसके कुछ दिन बाद की बात है जब उसके घर के सब लोग छत पर थे और मैं नीचे था तब मैंने उसके हाथ को पकड लिया | जब मैंने उसके हाथ को पकड लिया तो उसने मुझे पकड कर अपनी और खीच लिया | फिर सेक्सी स्टाइल में मेरे हाथ को पकड कर अपनी कमर पर रख दिया | दोस्तों मैं भी इसी टाइम का इंतजार कर रहा था जब मैं उसकी जवानी के मज़े ले सकूँ | मैंने भी उस मौके का पूरा फायदा उठाते हुए उसकी गुलाबी होठो पर अपनी होठो को रख दिया | मैं उसकी गुलाबी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगा और वो मेरी होठो को चूसने लगी | वो मेरी होठो को अपने मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगी | मैं उसकी रसीली होठो को चूसने के साथ उसके बड़े और चिकने बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाने के साथ उसकी चूत को जींस के ऊपर से दबाते हुए उसकी होठो को चूस रहा था | दोस्तों कुछ ही देर में रानी गर्म हो गयी थी और रानी के मुंह से निकलने वाली गर्म सांसे मेरे को मदहोश कर रही थी |

तभी छत से चाची ने रानी को आवाज दी तो मैंने उसे छोड़ दिया | दोस्तों हम दोनों ही पसीना से भीग गए थे तो वो जाके पानी से मुंह को धुला और फिर कुछ देर बाद छत पर गयी | मुझे उसके साथ इतना करने में बहुत मज़ा आया था और मैं अब उसकी चुदाई के मज़े लेना चाहता था | उसी रात की बात है जब वो अपने कमरे में लेती थी तो मैं उसके कमरे में चुपके से चला गया | जब मैं उसके कमरे में चला गया तो उसने अन्दर से दरवाजा को बंद कर लिया | जब उसने दरवाजा बंद कर लिया तो मैं उसे अपनी बाँहों में भर के बिस्तर पर लेट गया | मैं उसके साथ बिस्तर पर लेट कर उसकी गुलाब की पंखुड़ियों जैसी होठो को मुंह में रख कर चूसने लगा | वो मेरी होठो को चूसने लगी | मैं उसकी होठो को कुछ देर तक चूसने के बाद उसके कपडे उतार दिए और साथ में अपने कपडे भी उतार दिये जिससे हम दोनों ही बिना कपडे में आ गए | दोस्तों मैं उसको बिना कपड़ो में देख कर बहुत खुश हुआ और मैंने अभी तक इतनी सुन्दर लड़की की चुदाई नही की थी | मैं उसके जिस्म को चूमने लगा तो उसकी सांसे तेज तेज चलने लगी | वो अन्हे भरने लगी और मैं उसके बूब्स को दबाते हुए चूसने लगा | मैं उसके बूब्स को मुंह में रख कर चूसने के साथ में उसकी चूत में अपनी ऊँगली घुसा दी जिससे वो मचल गयी और उसके मुंह से मदहोश करने वाली आवाजे निकल गयी | मैं उसकी चूत के दाने को मुंह से पकड कर खीच खीच कर चूस रहा था | वो मेरे सर को दबाती हुई अह हाँ हाँ उई…. हाँ हाँ उई उई ह ह ह्हहहः….. की सिसकियाँ ले रही थी |

मैं उसकी चूत को ऐसे ही कुछ देर तक चाटने के बाद अपने लंड को उसके मुंह में घुसा कर चूसने लगा | मैं अपने लंड को ऐसे ही कुछ देर तक चुसाने के बाद उसकी चूत के मुंह पर रख कर घुसाने लगा | उसकी चूत काफी टाईट थी जिससे मेरा लंड नही घुसा | दोस्तों मैं उसकी चूत में फिर से थूक लगया और दूसरी बार में एक जोरदार धक्का मारा जिससे मेरा लंड उसकी चूत को फाड़ते हुए घुस गया | उसकी चूत से खून निकलने लगा और उसके मुंह से जोरदार चीख निकल गयी | दोस्तों वो दर्द की वजह से और कुछ नही बोल पाई और मैं उसकी चूत में धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए उसे चोद रहा था | वो कुछ देर बाद चुदाई का मज़ा लेने लगी और अहं हाँ हाँ उई उई.. ऊ ऊ ऊ ऊ… की आवाजे करने लगी | मैं उसकी सेक्सी आवाजो को सुनकर धक्को की स्पीड तेज कर दी जिससे उसके बड़े बड़े बूब्स जोर जोर से हिलते थे | मैं उसके हिलते बूब्स को देखकर उसकी चूत में जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए उसे चोदने लगा | वो मस्त सेक्सी आवाजे करती हुई हर धक्के का मज़ा लेती हुई अपनी चूत को हिला हिला कर चुद रही थी | मैं उसकी चूत में जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए उसे चोद रहा था | मैं उसको ऐसे ही जोरदार धक्को के साथ 13 – 15 मिनट तक चोदने के बाद झड़ गया | वो अभी भी चोदने के लिये तैयार थी इसलिए उसने मेरे लंड को दुबरा चूस चूस कर खड़ा किया और मैंने उसे उस रात दो बार जम कर चुदाई की थी | उस रात मैंने उसकी चूत का पानी निकलने तक उसकी चुदाई की थी |

फिर मैं अपने कपडे पहनने के बाद चुपके से अपने कमरे में चला आया था जहाँ मेरा बिस्तर लगाया गया था | दोस्तों उस रात मुझे चुदाई करने में बहुत मज़ा आया था और मैं उस चुदाई के बाद उसकी गुलाबी चूत में अपने लंड को अक्सर ही डालता हूँ |
      edit

0 comments:

Post a Comment