Sunday, January 21, 2018

Published 5:04 PM by with 0 comment

भाभी के भाइयों ने मुझे जम कर चोदा

हेलो दोस्तों | मेरा नाम रितिका है आज मैं आप लोगों को अपनी जिन्दगी की सच्ची घटना बताने जा रही हो |पहले मै आप लोगों को अपने बारे में बता दूं | मै दिल्ली से बिलोंग करती हूँ | और अभी एक बड़ी कम्पनी में जॉब कर रही हूँ | वैसे तो लड़कियां अपनी उम्र किसी को सही बताती नही हैं फिर भी मैं बता देती हूँ | मेरी उम्र अभी सिर्फ 23 साल है | और अभी मेरे ऊपर बस जवानी का खुमार छाया है | वैसे मै आप लोगों को बता दूँ कि मै थोड़ी हॉर्नी किस्म की लड़की हूँ | इसी लिए मेरे जवान होते ही मेरी सेक्स लाइफ शुरू हो गई थी | पहली बार मुझे मेरे बॉय फ्रंड ने एक होटल के कमरे में ले जाकर चोदा था | उस डिब उसने मेरी सील तोड़ कर मुझे पूरी तरीके से जवान बना दिया था | अब तो बस मुझे लंड ककी भूख रहती है | कि काब्व मुझे लंड मिले और मैं जन्न्स्त की सैर करूँ | अब थोडा अपने फिगर के बारे में भी तो बता दूँ | मेरे बूब्स ज्यादा बड़े नही है | एससी लिए मैंने इन्हे खूब दबाती और दबवाती हूँ | मेरी गांड तो लंड ले ले कर उठा गई है |

चलिए अब बात करते है | अपनी कहानी के बारे में | ये तब की बात है | तब मै अभी कॉलेज लाइफ में थी | मेरे घर में एक शादी हुई | वो भी मेरे भाई की | मैं तो बहुत ही खुश थी | मैंने अच्छे से अपना मेक अप करवाया था अच्छे अच्छे कपड़े खरीदे थे | एक खूब महंगा लहंगा भी लिया था | जिसे मैं शादी के दिन पहनने वाली थी | शादी का वो दिन आ गया | मैं बारात में भी गई थी जिद करके | वहां हमने खूब नाचा | मै जब नाच रही थी तो कुछ लड़के मुझे घूर रहे थे | आखिर मै लग ही इतनी सुंदर रही थी | बाद में पता चला की वो मेरे भाभी के भाई हैं | बारात पहुंची | सब खाने पर जुट गए | वो लड़के अभी भी मुझे ही देखे जा रहे थे | वैसे तो मैं भी एक ऐसे ही लड़के की तलाश में थी जो मुझे अपनी लंड की मस्त सवारी करा सके | वैसे वो चारो भी कम नही थे | एक से बढ़ कर एक हैण्डसम | सब के सब एक दम बॉडी बिल्डर लग रहे थे | अब तो मेरे मन में भी यही आ रहा था कि इनमे से एक का भी लंड लेने का मौका मिल जाता तो मज़ा आ जाता |खाना पीना खाने के बाद जयमाल का प्रोग्राम था | सब फोटो खिचवा रहे थे | उन लडको में से एक मेरे पास आया और बोला आप बहुत ही हॉट लग रही हो | मैंने कहा थैंक्स | और मुस्कुरा दी | वो वहां से चला गया | थोड़ी देर बाद शादी की रस्मे शुरू हो गई | कुछ लोग सो गए थे | तो बाकि लोग शादी देख रहे थे | मै अब बोर होने लगी थी | इसी लिए मैं बाहर आ गई | तो देखा कि वो लड़के एक कार के पास खड़े हो कर शराब पी रहे थे | उन लोगों ने मुझे देखा तो पुछा कि क्या हुआ | तो मैंने कहा मैं बोर हो रही हूँ | तो वो बोले चलिए हम आपको एन्जॉय करवाते हैं | आखिर आप हमारी मेहमान जो हैं | मैं मुस्कुराई | उन्होंने शराब पीने को कहा पहले तो मैंने मन कर दिया फिर ज्यादा जोर देने पर मैं मान गई | अब मुझे थोडा नशा हो रहा था | फिर वो सब बोले चलिए आप को घूमा कर लाते है | फिर हम गाड़ी में बैठे | और चल दिए |

अब हम कर में बैठ गए | दो लड़के मेर पास आ कर बैठ गए | और दो आगे | मैं बीच में बैठी थी | मुझे ये तो समझ आ गया था कि ये मुझे चोदने वाले हैं | लेकिन मैं भी चुदने के लिए तैयार थी | अभी कुछ देर चले ही थे की एक लड़के ने मेरे बूब्स पर हांथ रख दिया | तुरंत दुसरे ने मेरे लिप्स पे अपने लिप्स रख दिए | मैंने भी कोई विरोध नही किया तो वो और आगे बढे और एक लड़का मेरे बूब्स को चूसने लगा | मुझे भी अब मज़ा आने लगा था | फिर उन्होंने गाड़ी मोदी और एक बन्दले पर जा कर रोकी | हम सब अंदर गए | और फिर से शराब पीने लगे | कुछ देर बाद वो सब लड़के मुझे किस करने लगे मैं तो बस सातवी आसमान पर थी | उन्होने मेरे सारे कपड़े निकल दिए | और अब मै सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी | उस दिन मैंने ब्लैक कलर की ब्रा और पिंक कलर की पैंटी पहनी हुई थी | तभी उनमे से एक ने मेरी ब्रा पैंटी भी खींच कर निकल दिया | मुझे नंगा देख कर उनके मुंह से सिसकिया निकलने लगी |

फिर क्या था सब ने अपने भी कपड़े निकलना शुरू कर दिया और फिर सब के सब नंगे हो गए | अब फिर से वो मेरे पास आये और मेरे शरीर पर कुत्तों के तरह जुट गए | फिर सबने मुझे नीचे बिठा दिया और अपना अपना लंड मेरे मुंह के सामने कर दिया | मै एक एक कर सबका लंड चूसने लगी | सब ने मुझे तकरीबन 15 मिनट तक अच्छे से चुसवाया और मुझे लेकर बेड रूम में गए | अबएक लड़के ने अपना लंड मेरी चूत पर रखा और एक दम जोर से झटका दिया | उसका पूरा लंड मेरी चूत में था | मुझे बहुत दर्द हो रहा था | आखिर उसका लंड भी तो बड़ा था | मेरी आंखों से आंसू आ गए | फिर वो झटके देने लगा | मुझे भी मज़ा आ रहा था | मैं आःह्ह्ह… आह्ह्हह्ह.. कर के उनका साथ दे रही थी | वो मुझे एक दम रंडियों की तरह चोद रहा था | वो हटा तो उसके बाद बारी बारी से और तीनो ने मेरी चूत का मज़ा लिया |

और तकरीबन 1 घंटेतक मेरी जम कर चुदाई हुई | सब ने अपनी हवस पूरी तरीके से निकल ली थी | अब उन्होंने मुझे उल्टा किया और मेरी गांड में एक लड़का लंड डालने लगा | मैं समझ गई कि जो ये मरी गांड मरवाने की आदत है वो आज पूरी तरीके से छूट जाएगी | बस फिर क्या था चारों ने फिर से उसी कर्म में मेरी गांड भी मारी | मै चलने की हालत में नहीं थी इतना थक चुकी थी | तो भी इनकी हवस तो अभी बाकी थी | उमे से एक ने फिर से मेरी चूत में अपना लंड दे दिया | और जोर जोर से धक्के देने लगा | कुछ देर तक वो मुझे ऐसे ही चोदता रहा | फिर वो मेर ऊपर से हटा | और अपना लंड मेरे मुंह में दे दिया | और मेरे मुंह में ही झड गया | मैं उसका सर रस पी गई | फिर सबने मेरे मुह में लंड देना शुरू कर दिया | फिर बारी बारी से अपना रस मेरे मुंह में छोड दिया |

सब के सब एकदम थक के चूर हो चुके थे | अब थोड़ी देर आराम से लेते रहे | फिर जल्दी से मैंने नहाया | और तैयार हो गई | वो मेरे लिए मेरे मेक अप का सामान ले आये थे | फिर मैंने एक एक कर के सबको किस किया | वो सब मेरे लिए एक एक गिफ्ट भी लेकर आये थे | मैं बहुत खुश हुई | और फिर हम गाड़ी में बैठ कर मैरिज हाल में वापस आ गए | किसी को ये खबर तक नही हुई कि मैंने अपने भैया की शादी में ही अपनी सुहागरात मना ली थी | उस रात मुझे ग्रुप में सेक्स करने का अनुभव हुआ | अब मैं ग्रुप में चुदाई बड़े ही मज्जे से करवाती हूँ |
      edit

0 comments:

Post a Comment