Monday, January 29, 2018

Published 6:03 PM by with 0 comment

चाची ने मुझे सेक्स करना सिखाया

हेल्लो दोस्तों मेरा नाम कुलदीप है और मैं आज आप लोगो के सामने अपनी एक सच्ची कहानी को लेकर आया हूँ | मैं आज जो कहानी आप लोगो के सामने प्रस्तुत करने जा रहा हूँ ये मेरी पहली चुदाई की कहानी है और मुझे मेरी चाची ने सेक्स करने के बारे में बताया था | दोस्तों मुझे सेक्स वगैरह के बारे में कुछ नही पता था और जिस टाइम मेरी चाची ने मेरे साथ ये सब किया तो मुझे बहुत मज़ा आया था | मुझे उस दिन सेक्स के बारे में पता चला था | मुझे तो ये भी नही पता था की कोई चूत नाम की चीज औरतो के पास होती है जिसमे अपने लंड को डालने में बहुत मज़ा आता है | दोस्तों ये कहानी उस टाइम की है जब मेरी उम्र 18 साल थी और मैं बहुत सीधा लड़का था | मेरी उम्र के साथ मुझे भी थोडा बहुत जानकारी होने लगी थी | मैं जब स्कूल में पढने जाता था तो स्कूल में छुट्टी के टाइम मेरे क्लास में चुदाई के बाते और कुछ लड़के तो सेक्सी मूवी भी दिखा देते थे | उस टाइम मैं जब सेक्सी मूवी देखता था तो मेरा लंड खड़ा हो जाता था और मेरे अन्दर कुछ कुछ होने लगता था जिसकी वजह से मुझे बहुत अजीब लगता था | दोस्तों मैं कहानी को शुरू करने से पहले चाची के बारे में बता देता हूँ | मेरी चाची और मेरे मम्मी पापा एक साथ एक घर में ही रहते हैं | मेरे चाचा जी विदेश में जॉब करते है जिसकी वजह से वो 1 साल बाद ही आते हैं | मेरी चाची की उम्र 24 – 25 साल ही होगी और वो दिखने में बहुत सुन्दर है | चाची का फिगर बहुत सेक्सी है | चाची के फिगर का साइज़ 36 32 38 है और वो हुस्न की मल्लिका लगती है |

मैं जब अपने स्कूल में लडको के साथ सेक्सी मूवी देखता था तो मेरे अन्दर भी चुदाई की इच्छा आ जाती थी | दोस्तों बड़ी बात तो ये थी की मैंने अभी तक चूत के दर्सन भी नही किये थे | मुझे तो ये भी नही पता था की चूत में लंड को कैसे डाला जाता है | मैं अब रोज ही उन लडको के साथ सेक्सी मूवी देखता था और जब सब लड़के सेक्सी मूवी देखते तो उसके बाद मुठ मारते थे | मैं भी एक दिन लडको को मुठ मारते देखकर मैं भी मुठ मारने लगा | मैं जब उस दिन पहली बार मुठ मार रहा था तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था | मैं कुछ देर तक ऐसे ही लंड को आगे पीछे करता रहा जिससे मेरे लंड से कुछ निकलने वाला था | मैं तब और जोर से लंड को आगे पीछे करने लगा जिससे मेरे लंड ने माल निकाल दिया | दोस्तों जब मेरे लंड से माल निकला तो मुझे बहुत अच्छा लगा | मैं अब इतना करने के बाद मुझे भी लड़कियां को घुरना अच्छा लगाने लगा पर मैं लड़कियों को ज्यादा देर तक नही घूरता था क्यूंकि मुझे डर लगता था | मैं अब रोज ही उन लडको के साथ छुट्टी में सेक्सी मूवी देखता और मुठ मार लेता था जिससे मुझे बहुत मज़ा आता था | उन लडको के साथ में अब रोज ही ये करता और जब घर जाता तो अपनी चाची को घूरता रहता था और सोचता था की चाची तो बहुत मस्त लगती है | मैं यहीं सोचता और चाची को घुर घुर कर देखता रहता था | मैं जब चाची को घूरता तो चाची मुझे बड़े प्यार से बोलती कुलदीप क्या देख रहे हो | मैं बोलता कुछ नही चाची आप बहुत अच्छी लगती हो | मैं अब कभी कभी चाची से मस्ती कर लेता था और चाची मेरी बातो को सुनकर हँसने लगती थी |
दोस्तों मैं चाची के बड़े बड़े बूब्स को देखता रहता था और उनके मज़े लेता था | मैं अब कभी कभी घर में सेक्सी मूवी देख लेता था जिससे मेरे लंड में आग लग जाती थी और मैं टॉयलेट में जाकर मुठ मार लेता था | मुझे अब बहुत मज़ा आता था ये सब करने में दोस्तों एक दिन की बात है जब मैं लेटा था और मेरा लंड खड़ा था | मैं सपने में सेक्सी मूवी देख रहा था | तभी चाची मेरे खड़े लंड को देखकर मेरे पास आई और मेरे लंड को अंडरवियर से निकाल कर हिलाने लगी | जब वो मेरे लंड को हिलाने लगी तो मेरी आंखे खुल गयी | जब मेरी आंखे खुल गयी तो मैंने देखा की चाची मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिला रही थी |

मैं डर गया और बोला चाची ये क्या कर रही हो ?
चाची – कुछ नही कुलदीप ये खड़ा था तो मैंने सोचा की इसको नीचे कर दूँ |
मैं – पर चाची कैसे करोगी ये तो रोज ही खड़ा हो जाता है |
चाची – तुमने कभी चुदाई की है ?
मैं – चाची वो कैसे होती है मैंने आज तक देखा ही नही |
चाची मुझसे बोली की ठीक है मैं तुम्हारे लंड को नीचे कर देती हूँ और वो मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | जब चाची मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और मैं मस्त होकर लंड को चूसा रहा था | चाची मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगी जिससे कुछ ही देर में मेरे लंड से माल निकलने वाला था | तब मैंने चाची से कहा की कुछ निकलने वाला है तो वो मेरे लंड को और जोर से करने लगी जिससे मेरे लंड से कुछ ही देर में माल निकल गया | मेरे लंड से निकलने वाला सारा माल चाची पी गयी और फिर मुझसे कहा तुमने कभी चूत देखी है | मैंने कहा चाची वो क्या होता है ?
चाची – तुमने अभी तक चूत ही नही देखी ?
मैं – हाँ चाची सच में मुझे नही पता ये क्या होता है |

loading...
तब चाची ने मुझसे कहा की तुम देखना चाहते हो और मैंने हाँ कह दिया | जब मैंने हाँ कहा तो चाची ने मुझसे कहा की मैं तुम्हे रात में दिखओंगी | दोस्तों मुझे बहुत खुसी हुई की आज मैं चूत देख पाउँगा | मैं रात होने का इंतजार करने लगा और जब रात हो गयी तो मेरे मम्मी और पापा अपने रूम में लेट गए | तब चाची मुझे अपने कमरे में ले गयी और चाची ने मेरे कपडे निकाल दिया | चाची मेरे कपडे निकालने के बाद मुझे बेड पर लेटा दिया और मेरी होठो पर अपनी होठो को रख कर चूसने लगी | मैं भी उनकी होठो को चूसने लगा | दोस्तों मैंने सेक्सी मूवी देख देख कर इतना तो जन ही गया था | मैं चाची की होठो को कुछ देर तक चूसने के बाद चाची ने अपने कपडे निकाल दिए जिससे वो ब्रा और पैंटी में आ गयी | मैं उनको ऐसे देख कर पागल हो गया | दोस्तों चाची ब्रा और पैंटी में बहुत मस्त लग रही थी | मैं उनकी ब्रा को खोल दिया और उनके बड़े बड़े बूब्स को हाथ में पकड कर दबाने लगा तो चाची ने मुझसे दूध को मुंह में रख कर चूसने को कहा | मैं उनके बूब्स को मुंह में रख कर चूसने लगा तो उनके मुंह से तेज सांसे निकलने लगी | मैं उनकी ये आवाज सुनकर मज़े लेते हुए उनके बूब्स को 5 मिनट तक चूसता रहा |

फिर चाची ने मुझसे अपनी चूत को चाटने को कहा तो मैं चाची की चूत में अपनी जीभ को घुसा कर चाटने लगा | जब में चाची की चूत में चाटने लगा तो उनके मुंह से निकलने वाली आवाजे सिसकियाँ में बदल गयी | मैं चाची की चूत को चाटने के साथ चाची की चूत में ऊँगली घुसा दी जिससे उनके मुंह से अहं हाँ उई अहं उई हाँ……… हाँ आ आ उई हाँ हह ओह ओह…….. की सेक्सी आवाजे करने लगी | मैं चाची की सेक्सी आवाजे सुनकर चूत में ऊँगली को जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | चाची मज़े लेती हुई बिस्तर पर लेटी थी | वो ऐसे ही कुछ देर तक चुसाने के बाद चाची मेरे लंड को मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरे लंड को मुंह में अन्दर बाहर करती हुई 5 मिनट तक चूसती रही | फिर मैं अपने लंड को चाची के मुंह से निकाल कर चाची की टांगो को फैला कर उनकी चूत में लंड को घुसा दिया | मैं अपने लंड को चाची की चूत में घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए चाची को चोदने लगा | चाची मेरे लंड के धक्को के मज़े लेती हुई आ आ आ…. उई हाँ माँ माँ उई माँ उई हाँ….. की सिसकियाँ ले रही थी | मैं चाची के चिकने बूब्स को हाथ में पकड कर जोर जोर से अन्दर बाहर करते हुए चोद रहा था | वो मेरे हर धक्के पर मस्त आवाज करती हुई चुद रही थी | मैं उनकी चूत में जोरदार धक्को के साथ अन्दर बाहर करते हुए उनको चोद रहा था | मैं चाची की चूत में जितने जोर से धक्के मारता उनके बूब्स उनते ही जोर से हिलते | मैं उनके हिलते बूब्स को देखकर धक्को की स्पीड और तेज कर दी और चाची जोर जोर से अह अह ओह ओह….. उई हाँ माँ माँ माँ उई हाँ…… की सेक्सी आवाज कर रही थी | मैं उनको ऐसे ही 10 मिनट तक चोदता रहा और फिर मेरे लंड ने माल उनकी चूत के ऊपर निकाल दिया |
फिर चाची ने मेरे लंड को चाट चाट कर साफ किया | चाची ने फिर अपनी चूत में ऊँगली डाल कर जोर जोर से हिलाने लगी जिससे चाची की चूत से पानी निकलने लगा | जब चाची की चूत से पानी निकल रहा था तो मुझे बहुत मज़ा आ रहा था | दोस्तों उस दिन मुझे बहुत मज़ा आया था और उस दिन के बाद चाची मुझसे अक्सर चुदाई कराती थी |
धन्यवाद………..
      edit

0 comments:

Post a Comment