Wednesday, January 17, 2018

Published 11:04 PM by with 0 comment

चाची बोली आओ राजा मुझे मस्त चोदो आज

हेलो मेरे दोस्तों आज मैं आपको जो स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ उसे पढ़कर आप सभी लोंगो के लंड और चूत में खुजली मच जाएगी और आपका मन चुदाई करने के लिए व्याकुल हो जाएगा और लड़के अपने लंड को जोर जोर से हिलाने लगेंगे और लड़कियां अपनी चूत में उंगली डालकर हिलाने लगेंगी | यह कहानी अभी से 2 साल पहले की है जिसमें मैं आपको अपनी चुदक्कड़ चाची की चुदाई के बारे में बताऊंगा | मेरी चाची बहुत बड़ी चुदक्कड़ है | वह पहले ऐसी नहीं थी लेकिन मैंने उसको चोद चोद कर चुदक्कड़ बना दिया |

चलो अब आपको मैं अपने बारे में बताता हूँ मेरा नाम है मनीष है और मैं भोपाल का रहने वाला हूँ | मेरी उमर 21 साल है और मैं चुदाई करने का बहुत शौकीन हूँ मेरी चाची का नाम सुनीता है |

अब आपको स्टोरी बताता हूं जैसा कि मैंने आपको बताया कि यह स्टोरी 2 साल पुरानी है | तब मेरे चाचा की तबीयत खराब हो गई थी और उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ा | चाचा की फैमिली में चाचा चाची और उनका 3 साल का बच्चा था | उनका घर हमारे घर से 15 किलो मीटर की दूरी पर है तो मैं मेरे पापा और मम्मी उन के घर पहुंचे और उसके बाद हॉस्पिटल गए |

चाचा की तबीयत ज्यादा खराब थी और चाची अकेले क्या कर पाती इसलिए मेरे पापा और मम्मी ने मुझे चाची के साथ हॉस्पिटल में रुकने के लिए कहा मैंने कहा ठीक है और फिर पापा मम्मी घर चले गए | मैं और चाची हॉस्पिटल में ही रुक गए और रात में हॉस्पिटल में ही सोए | उस समय तक मेरे मन में चाची की चुदाई करने का कोई खयाल नहीं था | फिर अगले दिन सुबह मम्मी और पापा वापस हॉस्पिटल आए और चाची से कहां सुनीता तुम घर चले जाओ और फ्रेश हो कर नहा धोकर आजाना जब तक हम लोग यहीं रुके हैं | चाची ने कहा ठीक है फिर पापा ने मुझसे कहा मनीष तुम भी चाची के साथ चले जाओ | मैंने कहा ठीक है और मैं गाड़ी में चाची को बैठाकर चाची के घर जाने के लिए निकल गया | रास्ते में गड्ढों की वजह से मुझे बार बार ब्रेक लगाना पड़ रहा था और चाची के बूब्स मेरे पीछे पीठ पर टकरा रहे थे और मुझे बहुत मजा आ रहा था उसी समय पहली बार मुझे चाची को चोदने का खयाल आया |

फिर हम चाची के घर पहुंचे और चाची ने मुझसे कहा मनीष मैं नहा कर आती हूँ फिर तुम नहाने चले जाना | मैंने कहा ठीक है चाची ने अपनी अलमारी खोली और उसमें से अपनी साड़ी ब्लाउज ब्रा और पेंटी निकाली और उसे बैड पर रख दिया | मैंने उनकी जैसे ही ब्रा-पैंटी को देखा तो मेरा लंड खड़ा होने लगा | फिर उन्होंने अपना टॉवेल लिया और बाथरूम में नहाने चले गई | मैं उठा और चाची की ब्रा और पेंटी को अपने हाथ में उठा लिया और उसे देखने लगा फिर मैंने उसे वहीं रख दिया और बाथरूम की तरफ गया और दरवाजे के होल से अंदर झांकने लगा | अंदर अंधेरा होने के कारण मुझे कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था | मैं बेचैन होने लगा और मेरा लंड पूरा खड़ा हो गया पर मैं कुछ कर भी नहीं सकता था तो मैं वापस आकर बैठ गया | थोड़ी देर बाद चाची नहा कर वापस बाहर आई और उसने सिर्फ अपनी बॉडी पर टॉवेल लपेटा हुआ था और बहुत सेक्सी दिख रही थी |

गीली बॉडी और उस पर सिर्फ एक टावल मेरा तो मन कर रहा था कि अभी उसकी टॉवल अलग कर के उसे चोदना चालू कर दूँ | फिर उसने अपने कपड़े उठाए और अपने रूम में चले गई और मुझे कहा मनीष अब तुम नहाने चले जाओ और अपने रूम का दरवाजा बंद कर लिया | फिर मैं नहाने के लिए बाथरूम में गया वहां चाची की गीली अंडरवियर पड़ी हुई थी मैंने | उसे उठाया और सूंघने लगा | उसमें से बहुत अच्छी खुशबू आ रही थी | फिर मैंने अपने पूरे कपड़े उतार दिए मेरा लंड खड़ा था उस पर मैंने चाची की अंडरवियर रखी और जोर-जोर से मुठ मारने लगा और चाची के अंडरवियर को अपने लंड पर रगड़ने लगा | जिससे मेरे लंड का पूरा पानी चाची की अंडरवियर में ही निकल गया | फिर मैंने उनकी अंडर वियर एक किनारे रख दी और मैं नहाने लगा और सोचने लगा कि कैसे चाची को पेला जाए | फिर मैंने नहाया और अपने कपड़े पहने और बाथरूम से बाहर आ गया | चाची ने जब तक मेरे लिए नाश्ता बना दिया और चाचा के लिए टिफिन पैक कर दिया | फिर हम दोनों ने नाश्ता किया उसके बाद चाची वापस बाथरूम अपनी अंडरवियर धोने गई | मुझे याद आया की मैंने चाची की अंडर वियर साफ करना भूल गया हूँ और मैं बहुत डर गया फिर चाची अपनी अंडरवियर लेकर बाथरुम से बाहर आई और अंडरवियर हाथ में लेकर मुझे दिखाते हुए मुझसे कहा मनीष यह क्या है | तुम मेरे बारे में इतना गंदा सोचते हो मुझे यकीन नहीं था मैं डर के मारे अपना सर नीचे कर के शांति से बैठ गया | फिर चाची ने मुझसे कहा चलो हॉस्पिटल तुम्हारे पापा मम्मी को सब बताती हूँ | मैंने सोचा अब तो मेरी वाट लग जाएगी कुछ तो करना ही पड़ेगा |

मैंने चाची से कहा आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो और मुझे आपसे प्यार हो गया है | चाची ने मुझे झट से जवाब दिया यह जो तुम्हारा प्यार का भूत है अभी हॉस्पिटल में सब उतर जाएगा मैं बहुत डर गया था और सोच रहा था कि क्या किया जाए | फिर मैं उठा और चाची को जबरदस्ती पकड़कर बिस्तर पर पटक दिया उसने मुझसे कहा यह क्या कर रहे हो और मुझसे छूटने के लिए छट पटाने लगी और जोर-जोर से बचाओ बचाओ चिल्लाने लगी | मैंने उसे जोर से दो थप्पड़ मारे और कहा चुप हो जा रंडी नहीं तो यही तुझे मार डालूंगा | वो रोने लगी और मुझसे मिन्नतें करने लगी और कहने लगी प्लीज भगवान के लिए मुझे छोड़ दो.. मैं तुम्हारी चाची हूँ | यह सब गलत है मैंने उसे फिर दो थप्पड़ मारे और उसके होठों पर अपने होंठ रख दिए और उसे जोर जोर से किस करने लगा |

फिर मैंने उसके ब्लाउस को जोर से खींचा और उसे फाड़ दिया और उसके बड़े-बड़े दूध को अपने हाथों से जोर जोर से दबाने लगा और उसे निचोड़ने लगा | वह रोऐ जा रही थी और मुझसे छूटने की पूरी कोशिश कर रही थी लेकिन छूट नहीं पा रही थी | मैंने खींच के उस की साड़ी उतार दी और पेटीकोट भी उतार दिया और उसकी पैंटी के अंदर अपना हाथ डालकर उसकी चूत को सहलाने लगा | उसकी चूत में बहुत सारे बाल थे | फिर मैंने उसके होंठ से अपने होंठ अलग किए और उसके निप्पल को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और काटने लगा | वह लगातार रो रही थी और मुझसे रिक्वेस्ट कर रही थी कि प्लीज मुझे छोड़ दो लेकिन मैं कहां मानने वाला था | मैंने उसकी अंडरवियर भी उतार दी और उसे पूरा नंगा कर दिया और उसकी चूत को देखा | क्या चूत थी यार उसके बड़े बड़े बाल थे और गुलाबी कलर की छोटी सी चूत | मैं उठा और अपने कपड़े उतारने लगा तो वह भागने लगी | मैंने उसे पकड़ा और फिर बिस्तर पर पटक दिया और उसे बहुत मारा वह लगातार रोए जा रही थी फिर मैंने अपने कपड़े उतारे और अपना लंड जबरदस्ती उसके मुंह में डाल दिया और जोर-जोर से अंदर-बाहर करने लगा | मैंने लंड उसके गले तक डाल दिया जिससे उसको खांसी आने लगी मैंने 10 मिनट तक उसको अपना लंड चुसाया | वह मुझसे छूटने के लिए छटपटा रही थी | फिर मैंने उसे लिटाया और उसके पैर फैला दिया | फिर उसकी चूत में जोर से दो थप्पड़ मारे | वह चीख पड़ी फिर मैंने अपना मोबाइल का कैमरा ऑन किया और उसे एक किनारे रख कर वीडियो रिकॉर्डिंग चालू कर दी और चाची की चूत में अपना लंड रखकर उसे पूरा अंदर घुसा दिया | वो जोर-जोर से चीखने लगी आअह्ह्ह्ह ऊऊओह्हह्हह और मुझसे अपनी इज्जत की भीख मांगने लगी |

वह मुझसे कह रही थी मनीष प्लीज मुझे छोड़ दो.. यह सब गलत है.. मैं किसी को क्या मुंह दिखाऊंगी लेकिन मैंने उसकी एक न सुनी और उसे चोदता रहा | आधा घंटा चोदने के बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया और उसके बगल में लेट गया | अब वह बिस्तर पर बेजान लाश की तरह पड़ी थी और बस रोऐ जा रही थी | फिर मैं उसके दूध पीने लगा लेकिन उसने मुझसे कुछ नहीं कहा बस वो रोये ही जा रही थी 10 मिनट बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने उसके पैर फैलाए और फिर उसकी चूत में डाल दिया | इस बार उसने कुछ नहीं कहा बस शांति अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह् ऊम्म्म्मम्म्म्म करके बिस्तर पर पड़ी थी | मैंने उसे 40 मिनट फिर चोदा और फिर अपना सारा पानी उसकी चूत में छोड़ दिया | फिर मैं उठा वीडियो रिकॉर्डिंग बंद की और उससे कहा अगर किसी को कुछ बताया तो यह वीडियो वायरल कर दूंगा | उसने मुझसे कुछ नहीं कहा और वह उठी और बाथरूम में जाकर अपनी चूत को साफ करने लगी | मैं अभी बाथरुम में पहुंचा और अपने लंड को उसके मुंह में दे दिया और अंदर बाहर करने लगा | 20 मिनट बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गया और उससे सारा पानी पीने को कहा | उसने मेरे लंड का का सारा पानी पी लिया फिर मैं बाथरुम से बाहर आया और अपने कपड़े पहनने लगा उसने दोबारा नहाया और नंगी ही बाथरूम से बाहर आ गई | फिर उसने अलमारी से अपना दूसरा ब्लाउज निकाला और फिर मेरे सामने अपने कपड़े पहने और चुपचाप मेरे साथ वापस हॉस्पिटल चले गई और उसने वहां किसी को कुछ भी नहीं बताया | मैं बहुत खुश हुआ और उस दिन के बाद से मैं उसे अब तक चोदता हूँ और अब वह खुद अपनी मर्जी से मुझसे चुदवाती है |
      edit

0 comments:

Post a Comment