Monday, January 29, 2018

Published 5:02 PM by with 0 comment

चुद्द्कड़ दीदी को चोदकर खुश किया

हेल्लो दोस्तों मैं आज फिर से एक बार आप लोगो के सामने अपनी एक सच्ची कहानी को लेकर आया हूँ | दोस्तों मैं जो आज कहानी आप लोगो के सामने पेश करने जा रहा हूँ ये कहानी मेरे चाचा की लड़की की हैं | मेरे चाचा की लड़की मतलब मेरी चचेरी बहन | दोस्तों मैं कहानी को शुरू करने से पहले अपना परिचय दे देता हूँ | मेरा नाम अभी है और मैं रहने वाला एक बड़े शहर का हूँ | मेरी उम्र 23 साल है और मैं अभी पढाई करता हूँ | दोस्तों ये कहानी अभी कुछ महीने पहले की है जब मेरे चाचा और मेरे मम्मी पापा घुमने के लिए गए थे | जब मेरे घर के सब लोग जाने की बात करने लगे तब मैंने अपनी मम्मी से कहा की अगर सब लोग चले जाओगे तो मैं खाना कहा खाऊंगा | जब मैंने मम्मी से खाने के लिए कहा तो मम्मी ने कहा तुम आरती के यहाँ खाना खा लिया करना और सोने के लिए अपने कमरे में आ जाया करना |
दोस्तों तब मैंने अपनी मम्मी से पूछा आप सब लोग कब तक आ जाओगे तब चाची ने मुझसे कहा की 5 – 7 दिन लग जायेंगे | तब तक हम सब लोग नही आते हैं तब तक तुम मेरे घर ही खाना खा लिया करना | फिर सब लोग जाने के लिए तैयारी करने लगे और उसे दुसरे दिन ही सब लोग चले गए | दोस्तों मैं कहानी को आगे बढ़ाने से पहले अपनी बहन के बारे में बता देता हूँ | दोस्तों मेरी चचेरी बहन का नाम सोनाली है और वो मुझसे 1 साल बड़ी है | उसकी उम्र 24 साल है और वो दिखने में दूध की तरह गोरी है | सोनाली का फिगर बहुत सेक्सी है | दोस्तों उसकी उम्र के हिसाब से वो दिखने में बहुत मस्त माल लगती थी | उसके बड़े बड़े बूब्स जोकि 38 इंच के थे और जब वो चलती थी तो उसके बूब्स उछलते थे जीनको देखकर किसी के मुंह में पानी आ जाये | उसके बूब्स से मस्त उसकी गांड थी जो काफी बड़ी और चौड़ी थी | जिसको देखकर मेरे लंड में आग लग जाती थी | दोस्तों सबसे बड़ी बात तो थी की वो बहुत चुद्द्कड़ थी और ये बात मुझे पता थी |

मैंने उसे इससे पहले एक लड़के से चुदते देखा था और उस दिन मैंने उसे बिना कपड़ो के देखा था | दोस्तों उस दिन मैं सोनाली के गुलाबी बदन को देखकर पागल हो गया था और मेरा लंड पैंट को ऊपर चढाने लगा था | उस दिन घर में कोई नही था तो मैं उसके घर सामन लेने गया था तो मैंने सुना की सोनाली के रूम से आवाजे आ रही थी तो मैंने उस दिन उसके रूम की खिड़की से झक कर देखा तो सोनाली किसी लकड़े के लंड को मुंह में रख कर चूस रही थी | वो लड़का उसके सर को पकड कर धीरे धीरे अन्दर बाहर करते हुए लंड को चूसा रहा | मैं उस दिन खड़े होकर ये सब देखता रहा और फिर उस लकड़े ने उसकी गुलाबी चूत में अपने लंड को घुसा दिया और जोरदार धक्को के साथ उसको चोदने लगा और बिस्तर पर लेट कर चुदाई के मज़े ले रही थी | मैं ये सब देखकर बेकाबू हो गया था तो मैं अपने घर चला आया था और मुठ मार कर लेट गया था | मैं तब से जनता हूँ की सोनाली बहुत मादरचोद है पर वो ये नही जानती थी की मैंने उसे चुदते हुए देखा था | दोस्तों जब सब लोग चले गए तो मैं उसके साथ बैठ कर बात टीवी देखने लगा | मैं और सोनाली एक साथ बैठ कर टीवी देख रहे थे | तब मुझे सोनाली के बड़े बूब्स दिख रहे थे क्यूंकि वो बाहर की और निकले हुए थे |

मैं – सोनाली के बूब्स को घुर घुर कर देख रहा था | सोनाली ने मुझे अपने बूब्स को देखते देख लिया |
सोनाली – अभी क्या देख रहे हो इतने ध्यान से ?
मैं – कुछ नही ? दोस्तों वो मुझे जैसे देख याही थी मुझे लग रहा था की ये आज मुझसे भी चुद जाएगी |
सोनाली – अभी तुम डर क्यूँ रहे हो अगर मैं सेक्सी लग रही हूँ तो मेरी तारीफ करो ?
जब उसने मुझसे ये बात कहीं तो मैंने भी बिना डरे कह दिया की तुम्हारे बूब्स कफी बड़े लग रहे हैं | मैंने इनको इससे पहले देखे थे तो वो कुछ छोटे लग रहे थे | वो हाँ पहले मुझे भी छोटे लगते थे | दोस्तों वो ये कहती हुई मेरे पास बढ़ आई और बोली की यार दबा दबा कर बड़े कर दिए हैं | तुम पकड कर देखो बहुत मज़ा आएगा | वो मुझसे कहती हुई मेरे हाथ को पकड कर अपने बूब्स पर रख दिया | उसने जैसे ही मेरे हाथ को अपने बूब्स पर रक्खा तो मेरे जिस्म में करंट लग गया | फिर उसने मेरे सर को पकड़ कर अपने बूब्स पर रख कर दबाने लगी साथ में उह्ह उह उह हाँ अह….. आ आ आ हूँ हूँ उई उई हाँ.. की सिसकियाँ लेने लगी | मैं उसकी वो आवाजे सुनकर जोश में आने लगा था और उसके बूब्स को पकडे के ऊपर से दबाने लगा | मैं उसके बड़े और चिकने बूब्स को कपडे के ऊपर से दबाने लगा | मैं उसके बूब्स को दबाने के साथ उसकी होठो पर अपनी होठो को रख कर चूसने लगा | मेरा लंड लोहे की तरह खड़ा था और मैं उसकी रसीली होठो को चूस रहा था | वो मेरी होठो को मुंह में रख कर जोर जोर से चुस रही थी | फिर सोनाली ने मुझे माना किया और कहा की हम रात मैं मस्ती करेंगे | तब सोनाली खाने की तैयारी करने लगी | मैं बाहर घुमने चला गया और जब वपस आया तो मैं और सोनाली ने एक साथ खाना खाया |

loading...
फिर मैं और सोनाली कुछ देर तक बात करने के बाद मैंने उसे अपनी बाँहों में भर लिया और वो मुझसे लिपट गयी | जब वो मेरे लिपट गयी तो मैं उसको चूमने लगा और वो मुझे चुमने चाटने लगी | वो मुझसे ज्यादा चुदाई के लिए उतावली थी और मैं उसकी जवानी के मज़े लेने के लिए अपने लंड को लोहे की तरह खड़ा कर रक्खा था | मैंने अपनी होठो को उसकी होठो पर रख दिया और वो मेरी होठो को मुंह में रख कर जोर जोर से चूसने लगी | मैं उसकी होठो को मुंह में रख कर चूस रहा था साथ में उसके बड़े बड़े बूब्स को कपडे के ऊपर से दबा रहा था | मैं उसके बूब्स को दबाने के साथ उसके कपडे निकाल दिए जिससे वो मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गयी | वो ब्रा और पैंटी में सेक्सी माल लग रही थी | मैंने उसकी ब्रा को खोल दिए जिससे उसके बड़े बूब्स उछल कर सामने आ गए | उसके बड़े बूब्स के ऊपर एक छोटा सा निप्पल था जिसका रंग हल्का भूरा था जोकि उसके बूब्स पर बहुत मस्त लग रहा था | मैं उसके एक दूध को मुंह में रख कर चूसने लगा और दुसरे वाले दूध को हाथ में पकड कर उसके निप्पल को मसलने लगा | वो बिस्तर पर लेट कर जोर जोर से सांसे ले रही थी साथ में मेरे सर को सहला रही थी | मैं उसके बूब्स को एक एक करके चूस रहा था और दुसरे हाथ से उसकी चूत को सहला रहा था | वो आ आ आ हाँ उई…. अह आ आ हाँ उई हाँ ह हाँ ह….. की सेक्सी आवाजे करती हुई मज़े ले रही थी | मैं उसके दोनों बूब्स को ऐसे ही कुछ देर तक चूसने के बाद उसकी टांगो को फिला कर उसकी चूत में मुंह को घुसा कर चाटने लगा | मैं जब उसकी चूत को चाटने लगा तो उसकी आवाजे और तेज हो गयी और बिस्तर को कस के पकड कर तडपने लगी |

दोस्तों मैं उसको तडपते देख उसकी चूत में अपनी उँगलियों को घुसा कर जोर जोर से अन्दर बाहर करने लगा | वो अपने बूब्स को मसलती हुई लेटी थी | मैं कुछ देर तक उसकी चूत में ऐसे ही करता रहा फिर अपने कपडे निकाल दिए | वो मेरे 7 इंच लम्बे लंड को देखकर चौंक गयी और ओ मई गॉड बोलती हुई मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिलाने लगी | वो मेरे लंड को हाथ में पकड कर हिलाती हुई मुंह में रख कर चूसने लगी | वो मेरे लंड को मुंह में रख कर जोर जोर से अन्दर बाहर करती हुई चूसने लगी | मेरा लंड ज्यादा लम्बा होने की वजह से वो मेरे पुरे लंड को मुंह में नही ले पा रही थी इसलिए वो मेरे लंड को चाट चाट कर गिला कर दिया | तब मैंने उसकी गुलाबी चूत में अपने लंड को धीरे से घुसा दिया | जब मेरे थोडा लंड उसकी चूत में घुसा तो वो मस्त आवाज करती हुई चुदने लगी | दोस्तों मैं उसकी वो आवाजे सुनकर एक धक्का और मज़ा जिससे मेरा पूरा लंड उसकी चूत में घुसा गया | मेरा लंड जैसे ही उसकी चूत में पूरा घुसा तो उसके मुंह से जोरदार दर्द भरी आवाज निकल गयी | दर्द की वजह से वो मुझसे और कुछ भी नही बोल पाई | वो दर्द की वजह से पीछे बढ़ रही थी पर मैं उसकी कमर को पकड कर अपनी और खीच लिया और जोरदार धक्के मारने लगा | जिससे कुछ ही देर में उसे भी मज़ा आने लगा और वो मेरे धक्को के मज़े लेती हुई आ आ ऊह ऊ ऊ ऊ आ हाँ…. आ आ आ… ऊ ऊ ऊ.. की सिसकियाँ लेने लगी | मैंने उसकी चूत में धक्को की स्पीड इतनी तेज कर दी की कुछ ही देर में उसकी चूत से पानी निकल गया |
मैं अभी तक नही झडा था तो मैंने उसकी गांड में लंड को घुसा दिया | मैंने जब उसकी गांड में लंड को घुसा दिया तो वो अपनी गांड को हिला हिला कर चुदने लगी | मैं उसकी गांड में ऐसे ही 5 मिनट तक धक्के मारने के बाद झड़ गया | फिर उसने मेरे लंड को मुंह में रख कर चाट चाट कर साफ कर दिया | फिर हम दोनों बिना कपड़ो के ही सो गए | उसके बाद जिंतने दिनों तक मम्मी और पापा नही आये मैंने उतने दिन तक उसकी रोज ही मस्त चुदाई की |
धन्यवाद………
      edit

0 comments:

Post a Comment