Monday, February 5, 2018

Published 9:06 PM by with 0 comment

ट्रेन में मिली लड़की मेरे सिक्स पैक एब्स पर हुई फ़िदा -2

हाय दोस्तों मैं सागर दुबे आपको अपनी अधूरी कहानी बताने फिर से हाज़िर हूँ | पिछले भाग में मैंने आपको बता दिया था कैसे हमारी बात शुरू हुई और हम अच्छे दोस्त बन गए | अब मैं आपको आगे की कहानी बताता हूँ जिसमें मैंने उसको पटाया और चोद डाला | चलिए अब मैं आपको अपनी कहानी बता हूँ |

मैं एक दिन अपने घर में बैठा था तभी उसका फ़ोन आया और उसने मुझसे कहा क्या तुम आज फ्री हो ? तो मैंने कहा हाँ लेकिन क्यों ? ओ उसने कहा बस ऐसे ही शाम को कहीं मिलो | तो हम दोनों ने एक जगह पक्की कि और वहां पहुँच गए | वो वहां पर जल्दी पहुँच गई और खड़ी थी | मैं वहां पहुंचा और उसके पास गया तो उसने कहा हाय | फिर उसने कहा चलो कॉफ़ी पीते हैं और हम कॉफ़ी शॉप में जाकर बैठ गए | उसने मुझसे कहा मैंने तुम्हें इसलिए बुलाया है क्योंकि कल मेरा बर्थ डे है और मैं तुम्हें बुलाने आई हूँ | तो मैंने कहा मई कैसे आ सकता हूँ | तो उसने कहा कोई बहाना नहीं तुम्हें आना ही पड़ेगा |

फिर हमने कॉफ़ी पी और बातें करके चले गए | फिर अगले दिन मुझे उसका फ़ोन आया और उसने मुझे एक होटल में बुला लिया | मैं वहां पहुंचा और वो और उसकी कुछ सहेलियां वहां पर थी | उसकी एक सहेली ने कहा रूचि तूने सही कहा था ये तो बहुत क्यूट है | ये सुन के मुझे शर्म सी आने लगी और फिर रूचि ने मुझसे कहा चलो आओ केक काटते है और वो केक काटने लगी | फिर हम सब ने थोड़ी बहुत मस्ती कि और घर निकल गए |

अब मेरी और रूचि की फ़ोन पर बातें शुरू हो गई और हम और करीब आने लगे | एक दिन मुझे रूचि का फ़ोन आया उसने कहा तुम दिल्ली कब जा रहे हो ? तो मैंने कहा मेरी क्लास तो 2 हफ्ते बाद से शुरू हैं लेकिन टिकट कब की मिलती है कन्फर्म उस हिसाब से देखता हूँ | तो उसने कहा ठीक है मेरी भी करवा लेना | तो मैंने टिकट करवा ली और हमारी ट्रेन एक हफ्ते बाद की थी | फिर हमारे जाने के 2 दिन पहले उसने मुझे एक जगह खाने के लिए बुलाया और मैं चला गया | वहां पर उसकी एक दोस्त भी साथ आई थी और हम तीनो बैठ के खाना खा रहे थे |

तभी उसकी दोस्त ने रूचि से कहा तू इसकी बात कर रही थी जो बहुत क्यूट है और इसके सिक्स पैक भी है ? तो उसने अपनी दोस्त को कोहनी मारते हुए कहा अभी बताना ज़रूरी है क्या ? तो मैंने कहा कोई बात नहीं बोलो | तो रूचि ने अपनी दोस्त से कहा पता है मेरा कोई भी बॉयफ्रेंड इतनी हैण्डसम नहीं था जितना ये है | उसने जो कहा मैं उस वक़्त समझ नहीं पाया लेकिन थोड़ी देर में मेरे दिमाग की बत्ती जली लेकिन मैं शांत रहा | फिर जाते समय मैं उसको किनारे लेकर गया और कहा तुमने अपनी दोस्त को ये कहा कि मैं तुम्हारा बॉयफ्रेंड हूँ ?

तो उसने कहा आँखें झुकाई और कहा हाँ कहा और सच में आई लव यू | मेरे मन में पटाखे फूटने लगे और मैं अन्दर से झूम उठा | तो मैंने कहा मुझे भी तुमसे प्यार हो गया था जब मैंने तुम्हें सोते हुए देखा था | तो उसने कहा क्या मतलब ? तो मैंने कहा अरे जब तुम सो रही थी ना तब मैंने तुम्हारे मासूम चेहरे को देखा और मुझे तो तभी प्यार हो गया था | उसने अपनी स्कूटी से अपनी दोस्त को भेज दिया और हम दोनों सैर पर निकल गए | हम दोनों ने प्यार भरी बातें की और मैंने उसको घर छोड़ दिया और चला गया |

अब मेरे मन में तो चुल्ल मची हुई थी इसलिए मैंने उसको अगले दिन उसको फ़ोन लगाया और कहा चलो घूमने चलते हैं और वो मान गई और हम घूमने निकल गए | हम दोनों एक जगह पर बैठे थे और वहां पर कोई नहीं था इसलिए मैंने उसको गाल पर किस किया | तो उसने कहा बस और ये सुनकर मैं जोश में आ गया और उसको अपनी बाँहों में जकड कर किस करने लगा | वो किस करने में साथ देने लगी और हमने बहुत देर तक किस की | मुझे लगा आज के लिए इतना काफी है और फिर हम घर चले गए |

अगले दिन ट्रेन थी और हम दोनों ट्रेन में बैठे और दिल्ली पहुँच गए और अपने अपने घर चले गए | अब मुझे लग रहा था कि इसको चोदना है लेकिन कैसे ? तो मैंने अगले दिन उसको फ़ोन लगाया और अपने रूम पर बुला लिया | मैंने एक घर किराये से लिया हुआ है जहाँ पर मैं अकेला रहता हूँ | इसलिए मुझे किसी के आने का डर नहीं था और मैं बिना किसी की रोक टोंक कुछ भी कर सकता था | थोड़ी देर में वो ढूंढते ढूंढते मेरे घर तक आ गई और अन्दर आई | जैसे ही वो अन्दर घुसी मैंने उसको कमर से पकड़ लिया और उसको किस करने लगा |

उसने मुझे रोका और कहा रुको थोड़ी सब्र करो | तो मैंने उसको छोड़ा और हम दोनों अन्दर जाके बैठ गए | मैंने खाना आर्डर कर दिया था और थोड़ी देर में खाना आया और हम जाके अन्दर बैठ गए | अब मैंने उससे कहा अब तुम मुझे नहीं रोकोगी और मैं उसको किस करना शुरू कर दिया और उसके प्यारे होंठों का सोम रस पीने लगा | वो भी मुझे किस करने लगी और अब हम दोनों की जीभ आपस में मिलने लगी | अब मैं किस करने खो गया था तभी उसने मेरे सीने पे हाँथ रखा और मुझे होश आया तो मैंने उसके दूध पर हाँथ रख दिया और एकदम से वो किस करते करते रुक गई | मैंने उसकी आँखों में देखा और कहा क्या हुआ तो उसने कहा कुछ नहीं और मैंने उसके दूध दबाना शुरू कर दिए |

फिर मैंने उसका टॉप ऊपर किया और उतार दिया | उसने पिंक कलर की ब्रा पहनी थी और उसके दूध बहुत अच्छे लग रहे थे बड़े और उसके दूध पर एक तिल भी था तो मैंने उस तिल पर ऊँगली रख दी | फिर मैंने उसका ब्रा भी उतार दिया और उसके दूध को पकड़ कर उसके निप्पल चूसने लगा | वो उम्म्म ऊम्म्म करने लगी | मैंने थोड़ी देर तक उसके दूध चूसे और फिर मैंने खड़े होकर अपनी पैन्ट उतार के लंड उसके पास कर दिया | उसने बड़े प्यार से मेरा लंड पकड़ा और ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी | फिर उसने मेरे लंड को मुंह से लगाया और मैं जैसे कहीं खो सा गया |

जब वो मेरा लंड चूस रही थी तो मेरी आँखें अपने आप बंद हो गई और मैं जैसे दूसरी दुनिया में पहुँच गया था | फिर उसने मुझे बैठा दिया और मेरे सामने खड़े होकर अपनी जीन्स उतारी और अपनी गांड पे मारते हुए मुझे चिढाने लगी | तो मैंने उसकी गांड पे थप्पड़ मारना शुरू कर दिया और थोड़ी देर में उसकी गांड लाल हो गई | फिर मैंने उसकी गांड पे चुम्मियां ली और उसकी पैंटी को किनारे करके उसकी चूत को मलने लगा | उसकी चूत से हल्का हल्का सा पानी निकल रहा था और वो आअह्ह्ह्ह आहाहहहा आह्हहाह ऊउह्ह्ह्ह करे जा रही थी | फिर मैंने उसकी पैंटी नीचे कर दी और और उसको मेरी तरफ घुमा लिया और मैं बैठे बैठे उसकी चूत चाटने लगा और उसकी गांड दबाने लगा |

फिर मैंने बैठा रहा और उसको अपने लंड पे बैठाने लगा और अपना लंड उसकी चूत में डाल के उसको उचकने को कहा | वो मेरे लंड पे बैठ कर उचकने लगी और मैं अपने हांथों से उसके दोनों दूध को पकड़ कर दबाने लगा | वो आहाह्हहा आहाहहहा हुहुह्ह्ह्हह्ह ईस्स्स्सस्स्स करने लगी और मेरा लंड चूत का आनंद ले रहा था | फिर मैंने कहा चलो अब मेरी बारी और मैंने उसको लिटा दिया और उसकी चूत पे लंड रगड़ने लगा और वो ईएस्स्स्स ईस्स्स्स स्स्सस्स्स्सस्स्स करने लगी | फिर मैंने उसकी चूत के छेद में अपना लंड डाला और ज़ोर ज़ोर के झटके मारने लगा |

जब मैं उसे झटके मार रहा था उसके दूध आगे पीछे हो रहे थे और मुझे ये देखकर मज़ा आ रहा था | फिर मैंने उसको झटके मारना शुरू किया और मारता रहा | फिर मैंने उसको किस करना शुरू कर दिया | फिर उसने कहा अच्छा मैं उल्टा लेट जाती हूँ और तुम पीछे से डालो | तो वो उलटी होकर लेट गई और मैं उसके ऊपर लेट गया और उसकी चूत में लंड डाल के उसे चोदने लगा | इस तरीके से उसे चोदना मुश्किल हो रहा था लेकिन तभी मुझे लगा कि निकलने वाला है तो मैंने उसको घुमाया और उसके मुंह के ऊपर लंड करके हिलाने लगा | वो मुंह खोल कर मेरे मुट्ठ निकलने का इंतज़ार कर रही थी और जैसे ही मेरा मुट्ठ निकला तो सीधे जाके उसके मुंह में गिरा | वो मेरा सारा मुठ पि गयी | फिर हम दोनों साथ लेट गए और उसके बाद हमने उस दिन दो बार और चुदाई की |

तो दोस्तों ये ट्रेन में मिली लड़की से चुदाई की कहानी कैसी लगी आप लोगों को कमेन्ट करके जरुर बताइयेगा | जल्द ही मिलूँगा अपनी दूसरी कहानी के साथ |
      edit

0 comments:

Post a Comment