Sunday, February 18, 2018

Published 4:53 AM by with 0 comment

अमेरिकन महिला के साथ एक यादगार रात

अमेरिकन महिला के साथ एक यादगार रात
(American Lady Ke Sath Ek Yadgar Raat)
ये पोर्न स्टोरी मेरे अमेरिका में बिताये हुए कुछ दिनों की है. उम्मीद करूँगा कि ये दास्तान आपको मेरे इन हसीन पलों का एहसास कराएगी और आप उत्तेजित हो जाओगो.

मुझे आज ही अमेरिका के लिए निकलना था. मेरी फ्लाइट फ्रेंकफ़र्ट और वहां से सीधे ऑरलेंडो पहुँच गया. ऑरलेंडो फ्लोरिडा का एक बहुत खूबसूरत शहर है और यहाँ का मौसम काफी हद तक भारत की तरह है. खैर दो दिन तो मुझे काम में निकल गए और तीसरे दिन मैंने शाम को किसी स्ट्रिप क्लब जाने का प्लान किया क्योंकि अमेरिका के न्यूड क्लब काफी मशहूर हैं.

Read Also: रिश्तेदारों में चुदाई का घमासान
                   चुदाई फूल सी लड़की की चूत की

मैंने पता किया और मेरा टैक्सी ड्राइवर मुझे रोसी क्लब ले आया. एंट्री फीस देकर मैं अन्दर आया तो देखा बहुत सारी कामुक सुन्दरियां भड़कीले और अर्धनग्न लिबासों में वहां ड्रिंक्स पेश कर रही थीं.
मैंने एक बियर मंगाई और शो देखने लगा. यहाँ की लड़कियों के मम्मे यानि उरोज काफी उन्नत थे और मुझे बहुत मजा आ रहा था.
थोड़ी देर बाद मैंने बीस डॉलर खर्च कर के एक सुंदरी से लैप डांस भी करवाया और उसने मुझे झड़ने के करीब ही ला दिया था.

रात के एक बजे मैं वहां से निकला और मेरा मूड अब सेक्स के लिए बन चुका था. वैसे तो मैं दूसरी बार अमेरिका आया था लेकिन यहाँ के नियम और कानून बहुत सख्त हैं, सो मैं सीधे होटल ही आ गया.



लेकिन जैसे ही पोर्च में पहुंचा मैंने सोचा पहले सिगरेट सुलगा लेता हूँ. आप लोगों एक बात बता दूँ कि अमेरिका और यूरोप में आपको होटल में स्मोकिंग रूम नहीं मिलते और आप एयरपोर्ट पर भी स्मोकिंग नहीं कर सकते.

मैंने सिगरेट जलाई और पार्किंग में टहल रहा था कि किसी ने बहुत ही मधुर आवाज में मुझे ‘एक्सक्यूज़ मी..’ कहा.
मैंने पलट कर देखा तो एक निहायत ही दिलकश महिला थी, उसकी उम्र शायद 35 के आस पास लगती थी. लेकिन वो 42 साल की थी, ये उसने मुझे बाद में बताया.

वो मेरे पास आई और अपना हाथ आगे बढ़ाया- हाय आई ऍम एड्रिआना एंड आई ऍम हेयर फॉर बिज़नेस कांफ्रेंस एंड व्हाट अबाउट यू?
यहाँ मैं वार्तालाप को हिंदी में आपकी सुविधा के लिए बता देता हूँ. मैंने उसे बताया कि मैं इंडिया से हूँ और यहाँ कांफ्रेंस के लिये आया हूँ.
उसे शायद सिगरेट चाहिए थी और मैंने उसे सिगरेट ऑफर की. मैं विल्स क्लासिक पीता हूँ, तो वो उसके लिए थोड़ी अलग और हार्ड थी, लेकिन हम इस सिगरेट वार्तालाप पर काफी करीब हो गए थे.

वो एक सिंगल मदर थी और उसकी बेटी उसके साथ ही आई थी, लेकिन वो अब पार्टी के लिए जा चुकी थी और एड्रिआना अकेले बोर होने के कारण बाहर आ गई थी. उसने मुझे सिगरेट पीता देखा तो उसे भी तलब लग गई थी.

शायद उसके विचार भारत के लिए बहुत अच्छे थे और वो मुझसे मेरे भारत के बारे में बहुत कुछ जानना चाहती थी. उसने मुझे कॉफ़ी के लिए पूछा लेकिन मुझे भूख लगी थी और मेरा इंडियन फ़ूड मेरे रूम में था तो मैंने उसे बताया कि मैं अभी पहले कुछ खाऊंगा और अगर वो चाहे तो कॉफ़ी हम रूम में पी सकते हैं.
उसने मेरे प्रस्ताव को हंस कर स्वीकार कर लिया. मुझे उसकी ये हंसी मुझे कुछ अलग लगी लेकिन मैंने इग्नोर किया.

खैर रूम में आकर मैंने जल्दी से पोहा और नूडल्स रेडी किये और हम दोनों खाने लगे. बातों बातों में हमने अपने काम और परिवार के बारे में बात की.

एड्रिआना का फिगर तकरीबन 36-30-36 का था और उसकी हाइट तकरीबन 5 फुट 9 इंच.. और लम्बे काले बाल, जो मुझे उत्तेजित कर रहे थे.

खाते खाते उसकी नज़र टेबल पर रखी हुई बैलेंटाइन की स्कॉच पर गई जो मैं दिल्ली एयरपोर्ट से लेकर गया था. उसने मुझसे पूछा कि क्या मैं ड्रिंक करता हूँ.
मैंने यस कहा और उससे ड्रिंक के लिए पूछा तो उसने बोला कि हाँ उसका मन है.
मैंने तुरंत दो पैग बनाये और हम अब धीरे धीरे एक दूसरे से पर्सनल बातें करने लगे. बातों ही बातों में उसने मुझे बताया कि उसने शायद काफी टाइम से सेक्स नहीं किया क्योंकि उसकी बेटी अब खुद जवान है और काम के बोझ में वो खुद को टाइम नहीं दे पाती.

अब टाइम था उसकी भावनाओं को भड़का कर उसको बिस्तर पर लाने का. तो मैं अब उसके और करीब हो गया और अब आगे हम दोनों का वार्तालाप.

मैं- एड्रिआना, क्या आज की रात तुम यहाँ रुक सकती हो अगर तुम्हें कोई परेशानी ना हो तो?
एड्रिआना- क्या? तुम मुझे यहाँ रुकने को क्यों बोल रहे हो? क्या तुम्हारे मन में कुछ गलत तो नहीं?
मैं- नहीं एड्रिआना… मैंने आज तक कभी किसी को इस तरह नहीं पूछा लेकिन ना जाने क्यों जब से आप मिली हो, लगता ही नहीं कि हम पहली बार मिले हैं.. और अगर सच बोलूँ तो आज मैं तुम्हारे साथ कुछ यादगार समय बिताना चाहता हूँ.. लेकिन तुम्हारी भावनाओं की इज्जत के साथ.. क्योंकि आप बहुत स्पेशल हो.

मेरी बात सुनते सुनते ही एड्रिआना खड़ी हो गई थी और उसकी आँखों से आंसू बहने लगे. वो मेरे पैरों के पास आकर बैठ गई और मेरा हाथ अपने हाथों में ले कर बोली- आज तक इतने प्यारे और साफ़ तरीके से किसी ने मुझसे नहीं पूछा और कोई मेरी भावनाओं की इज्जत करेगा, मैंने सोचा भी नहीं था. आज ही नहीं… डियर मैं हमेशा तुम्हारी हूँ, जो चाहे कर लो. समझ लो, मैं आज से तुम्हारी दासी हूँ.

उसकी ये बातें सुन कर मेरे दिमाग की वासना जैसे कहीं उड़ गई और मैं भी रोने लगा और उसे कस कर गले लगा लिया. उसके बदन की खुशबू अब मुझे महसूस हो रही थी और उसकी पकड़ कसती जा रही थी.
उसके सैंडल्स और हाइट की वजह से वो मुझसे ऊँची थी तो उसने झुक कर मेरे होंठों को चूमा और अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी. अब मैं उसकी जीभ को चूस रहा था और वो मेरे होंठों को.

मैं एक बात बता दूँ कि हम हिन्दुस्तनियों को लिपलॉक या फ्रेंच किस करना नहीं आता और इसी वजह से उसके अद्भुत आनन्द को हम महसूस नहीं कर पाते, लेकिन मैं ये बहुत बार इंडिया के बाहर कर चुका था.. तो मैं एक बहुत अच्छा किसर हूँ. मैंने ये आज साबित भी किया.

अब एड्रिआना ने मुझे बिस्तर पर धकेला और मेरे कपड़े मेरे जिस्म से आजाद करने लगी. कुछ ही पलों में मैं सिर्फ फ्रेंची में था. मैंने भी उसका वन पीस उतार दिया और उसके उन्नत और रसीले मम्मों को पीने लगा.
एड्रिआना अब मस्ती में कराह रही थी और उसके होंठों से सिर्फ एक ही आवाज निकल रही थी- साहिल लव मी लाइक आई कैन नॉट फॉरगेट.

अब मैंने उसके अंडर गारमेंट्स भी उतार दिए. आह.. वह उसकी उभरी हुई चूत कितनी दिलकश थी (आज भी वो पल मेरे दिल में जिन्दा है) मैं उसकी चूत देख कर खुद को रोक ना पाया और मेरी लपलपाती हुई जीभ मैंने उस जन्नत में उतार दी. मेरी जीभ छूते ही एड्रिआना ने अपने चूतड़ उछाल दिए और वो चिल्लाने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’

बस दो मिनट हुए थे कि एड्रिआना अति उत्तेजना में स्खलित हो गई और मेरा पूरा मुँह उसके अमृत से भर गया. ना चाहते हुए भी कुछ रस मुँह में चला गया. जिसे मैंने थूक दिया और टॉवल से अपने आपको साफ किया.

एड्रिआना बिस्तर पर अपनी सांसें ठीक कर रही थी और मुझे प्यार भरी आँखों से देख रही थी. उसके गोल्डन बाल उसके चेहरे पर आ रहे थे. मैंने उसके बगल में लेट कर उसे किस किया और इस प्यार के लिए थैंक्स बोला लेकिन एड्रिआना ने मुझे नीचे गिराया और मेरी चड्डी उतार कर मेरे लिंग को अपने मुँह में ले लिया.

मैं यहाँ बताना चाहता हूँ कि मेरा लिंग औसत साइज का ही है लेकिन कभी किसी औरत ने उसकी शिकायत नहीं की.

अब सिसकारियां निकलने की बारी मेरी थी.. क्योंकि एड्रिआना मेरे लिंग मुंड के छिद्र को अपनी जुबान से किलकार रही थी और पूरे लंड को खोल कर सुपारा चूस रही थी. मैं अब आउट ऑफ़ कण्ट्रोल था. जैसे ही मैंने उसको कहा कि मैं छूटने वाला हूँ तो उसने मुझे उसके मुँह में आने को कहा और तेजी से चूसने लगी.

उसकी बात को सुन कर मैं और अधिक उत्तेजित हो गया. मैं उठ गया और उसे नीचे बिठा कर उसके बाल पकड़ कर जानवरों की तरह उसके मुँह को चोदना शुरू कर दिया और अगले ही पल मेरा लावा उसके मुँह में उगलने लगा. उसने भी मेरे लंड रस की एक बूंद नीचे नहीं गिरने दी. उसके मुँह के अलावा मेरा बाहर निकला पूरा वीर्य उसने अपनी हथेली में गिरा कर चाट लिया और मेरा लंड चाट कर साफ कर दिया.

इसके बाद हमने दो दो पैग और लगाए और अबकी बार मैंने उसके उरोजों पर हमला बोल दिया. फिर हम 69 में आ गये और उसने मेरा लंड एकदम सख्त कर दिया.

अब बारी थी फाइनल राउंड की, जिसमें सबसे पहले राइडर बनी एड्रिआना. उसने मुझे जम कर चोदा और उसके थकने के बाद मैंने उसे हिला हिला कर चोदा. कभी उसकी टांगें उठा कर, कभी उसे बिस्तर के किनारे लाकर.. मेरी इच्छा तो उसे हवा में उठा कर फ्लाइंग पोज़ में चोदने की थी लेकिन एड्रिआना की हाइट और वजन काफी था, जो मुमकिन नहीं था.

अब एड्रिआना तीसरी बार झड़ने को थी और मेरा भी लावा उगलने को मचल रहा था, जो किसी भी वक़्त बाहर आ सकता था. फिर फाइनली मैंने उसे कुतिया बनाया, जो मेरा फेवरिट पोज़ है. उसके चूतड़ों पर अपने थप्पड़ बजाते बजाते जैसे ही एड्रिआना झड़ी, उसने अपनी चुत को सिकोड़ लिया और इसी के साथ मैं भी अपना कण्ट्रोल खो बैठा और मेरे मुँह से किसी सांड की तरह हुंकार निकली और मेरा वीर्य मैंने उसके नितम्बों पर छोड़ दिया.

एड्रिआना तो 3 बार झाड़ कर जैसे बेसुध ही हो गई थी और मैं भी खुद को साफ करने के लिए बाथरूम में आ गया. एड्रिआना भी मेरे पीछे पीछे आ गई और वो अपने हाथों में मेरा वीर्य लेकर चाट रही थी. मुझे देखते ही उसने मेरे गले लग कर थैंक्स कहा और मेरे होंठों को चूमा और मेरे ही वीर्य का कसैला और खट्टा स्वाद मुझे करा दिया.

अब हम दोनों शावर के नीचे थे और मैंने शावर ऑन कर दिया और एड्रिआना ने मुझे अच्छे से नहलाया और मेरा लंड चूसते चूसते मुझे एक बार फिर लड़ाई के लिए तैयार कर दिया. अब मैंने उसे कमोड पर झुकाया और पानी की बौछारों के बीच हमारी चुदाई एक बार फिर से शुरू हो गई.
एड्रिआना शायद काफी टाइम के बाद चुदने की वजह से अति उत्तेजित थी. इस बार भी उसने जल्दी ही हार मन ली और स्खलित हो गई.

मेरा शेर अभी तक डटा हुआ था और एड्रिआना शायद समझ गई थी तो उसने मुझसे कहा कि वो मुझे मुँह से डिस्चार्ज कर देगी, लेकिन मेरा इरादा कुछ और ही था. मैंने उसकी गद्देदार गांड पर अपना हाथ लगाया और उसे सहलाना शुरू कर दिया. शायद एड्रिआना मेरा इरादा समझ गई और उसने मुझसे पूछा कि मेरे पास कंडोम है?

मैं कमरे में आकर बैग में रखा कंडोम ले आया और बाथरूम में आते ही एड्रिआना ने दुबारा मेरे लंड को चूसा और उस पर कंडोम चढ़ा दिया. लेकिन एड्रिआना थोड़ी डरी हुई थी और मेरे पूछने पर उसने बताया कि उसकी गांड बहुत टाइट है और मेरे पास कोई जैली भी नहीं है.
तभी मेरे दिमाग में आईडिया आया और मैंने शैम्पू की बोतल शैम्पू निकाल कर अपने लंड और उसकी गांड में भर दिया और अपनी दो उंगली उसकी गांड में डाल दीं. मेरे इस हमले से एड्रिआना चिहुंक गई. फिर गांड के चिकनी होते ही मैंने उसे घोड़ी बनाया और अपना पैर कमोड पर रख कर अपना लंड उसकी गांड में रख कर दबा दिया.

एड्रिआना के मुँह से एक दर्द भरी चीख निकली और मेरे धक्कों के शुरू होती ही एड्रिआना के मुँह से दर्द और आनन्द मिश्रित आहें निकलने लगीं.
शायद रात भर जगे होने की वजह से मेरे पैर थक रहे थे और उसकी टाइट गांड की वजह से मेरा लंड भी अपना रस छोड़ने को तैयार था.

शायद एड्रिआना को भी अंदाजा हो गया था तो उसने तुरंत मुझसे कहा कि वो मेरा रस पीना चाहती है और मैंने अपना लंड निकाल कर उसके हाथ में दे दिया. उसने कंडोम हटा कर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और मैंने भी दो-चार धक्कों में ही सारा अमृत उसके मुँह में छोड़ दिया.

इसके बाद हम दोनों नहा कर कमरे में आ गए और ऐसे ही नंगे एक दूसरे की बांहों में सो गए.

सुबह मेरा फ़ोन बजा और मैंने देखा कि मेरी वाइफ कॉल कर रही थी. मैंने कॉल काटा और टाइम देखा तो एक बज चुका था और एड्रिआना अभी भी सो रही थी. उसके चेहरे पर अभिसार की तृप्ति थी.
खैर मैंने कॉफी बनाईं और फ्रेश होने चला गया और वापिस आकर उसे उठाया और कॉफ़ी दी. उसके बाद एड्रिआना ने अपना फ़ोन चैक किया तो उसकी बेटी की 12 मिस कॉल थीं.
अब एड्रिआना घबरा गई लेकिन मैंने उसे दिलासा दी और उसे समझाया कि वो यही बोले कि कल रात को पार्किंग में वो गिर गई थी और उसके पैर में मोच आ गई थी और मैंने उसके पैर की मालिश की और बाम लगाई और वो दवा की वजह से यहीं सो गई.

मैं उसे सहारा देकर उसके रूम में ले गया जहां उसकी बेटी बहुत चिंतित थी. यहाँ जैसे ही मैंने उसकी बेटी को देखा में झटका खा गया क्योंकि कांफ्रेंस के दौरान मैं उससे दो बार मिल चुका था. अब वो मुझे अपनी माँ के साथ देख कर शॉक थी.

खैर हमने उसे समझाया लेकिन उसके चेहरे मुझे समझ आ गया कि वो असली कहानी समझ चुकी है.
उसने अपनी माँ से शरारती लहजे में पूछा कि क्या अब मालिश के बाद वो ठीक है या उसे दुबारा मुझसे मालिश करवानी है?
अब झेंपने की बारी मेरी थी और मैं उन्हें बाय बोल कर वापिस आने लगा.

तभी एड्रिआना की बेटी, जिसका नाम शेरोन था, बाथरूम चली गई. उसके जाते ही एड्रिआना मुझ पर झपटी और मेरे होंठों को कस कर चूमा और मेरे फ़ोन से अपना नंबर डायल किया और मुझे कल की रात के लिए थैंक्स बोला.


इतने में शेरोन भी आ गई और मुझे छोड़ने बाहर तक आई. हमने कुछ फॉर्मल बातें की.



      edit

0 comments:

Post a Comment