Sunday, February 11, 2018

Published 7:48 AM by with 0 comment

भाभी और देवर चुदाई करने लगे पति के ना रहने पर

हैल्लो दोस्तों आज मैं आप सभी को अपनी लाइफ की सबसे कठिन सच्चाई बताने जा रहा हूँ | मुझे पता हैं कि आप लोगो को मेरी कहानी पढकर जरुर मजा आयेगा |

दोस्तों मेरा नाम अजय हैं और मैं इंदौर का रहने वाला हूँ |मेरी उम्र 20 साल हैं और लम्बाई 5 फीट 6 इंच हैं |मेरे घर मेंभी सभी लोग रहते है | मेरे भैया भोपाल में जॉब करते हैं इसलिए भैया और भाभी भोपाल में रहते हैं और मैं भी भैया-भाभी के साथ भोपाल में रहता हूँ | और भोपाल के टी.आई.टी कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढाई कर रहा हूँ |

दोस्तों अब मैं अपनी कहानी पर आता हूँ | दोस्तों मैं अपने बड़े भैया की शादी के बाद से ही अपने भैया-भाभी के साथ भोपाल में रहने लगा| दोस्तों मेरी भाभी मुझे बहुत अच्छी लगती थी | वो देखने मैं बहुत ही सुंदर और सैक्सी हैं उनका नाम रौशनी हैं | मेरे भैया देखने में बहुत ही सीधे सादे हैं | वो रोज सुबह 8 बजे अपनी जॉब पर चले जाते हैं और शाम को 7 बजे घर वापस आते हैं |मैं भी अपने कॉलेज चला जाता हूँ लेकिन मैं अपनी भाभी के कारण कॉलेज से जल्दी घर आ जाता था | कभी कभी तो मैं कॉलेज भी नहीं जाता था क्यूंकि भाभी को देख कर मुझे बहुत जोश आता था | मुझे तो बस उनको चोदने का मन करता था | भाभी मेरा बहुत ख्याल रखती थी और हमेशा मुझे देखकर मुस्कुराती रहती थी | मैं दिन भर भाभी से बात करता रहता था और वो भी देवर समझ कर मुझसे हंस कर बातें किया करती थी | पर उन्हें क्या पता था की मैं उन्हें चोदने की फ़िराक में रहता था | उनके दूध इतने मस्त हैं कि मैं क्या बताऊ मुझे तो बस उनके दूध पीने का मन करता था| वो जब भी मेरे पास आती तो मैं उनके दूध को ही देखता रहता और भाभी से बहुत मस्ती मजाक करता रहता था | मैं भाभी से सभी प्रकार कि बातें कर लेता था और वो भी बुरा माने बिना साथ देती थी | वो हमेशा मुझसे पूछती रहती थी कि अजय तुम्हारी गर्लफ्रेंड कौन हैं मुझे बताओ | और में हमेशा भाभी से कहता था कि भाभी मेरी कोई गर्ल फ्रेंड नहीं है फिर भी वो हमेशा मुझसे मजाक करती रहती थीऔर पूछती रहती किअजय बताओ न तुम्हारी गर्ल फ्रेंड कौन हैं |




कोई तो होगी कॉलेज मेंबता दो मुझे में भी हमेशा उनसे यही कहता था कि भाभी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं हैं | मैं कैसे बताऊ कि मैं तो आप को ही पसंद करता हूँ और चोदना चाहता हूँ | फिर उसके बाद मैंने तो सोच ही लिया था कि अब भाभी ने अगर मुझसे पूछा कि अजय अपनी गर्लफ्रेंड बताओ कौन हैं तो मैं उनसे कह दूंगा कि भाभी मेरी गर्लफ्रेंड तो नहीं हैं लेकिन मैं आपको बहुत पसंद करता हूँ |फिर एक दिन मैं अपने कमरे में कॉलेज जाने के लिए तैयार हो रहा था | तभी भाभी मेरे लिए नाश्ता लेकर मेरे कमरे में आई| उस समय मैंने जेसे ही भाभी को देखा तो में उन्हें देखता ही रह गया भाभी माल लग रही थी | उन्होंने मस्त साड़ी पहनी थी और उस साड़ी में वो बहुत ही मस्त लग रही थी और उनके दूध भी दिख रहे थे और उनकी कमर पूरी खुला दिख रही थी | उनकी गांड तो और भी मस्त लग रही थी | में तो उन्हें देखता ही रह गया |उस समय मेरा लंड भी खड़ा हो गया था और उस समय तो मुझे ऐसा लग रहा था कि भाभी को पकड़कर चूम लू | उसके बाद भाभी मुझसे नाश्ता देकर वापस चली गयी| जाते जाए मुस्कुरायी और मुझसे मुस्कुराते हुए कहा कि अजय तैयार होकर कहा जा रहे हो अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने औरफिर मैंने भाभी से कहा मेरी गर्लफ्रेंड नहीं हैं | में कॉलेज जा रहा हूँ |

अगली सुबह भाभी ने मुझसे पूछा कोई तो होगी तुम्हारे कॉलेज मैं जिसे तुम पसंद करते होगे | तो मैंने सोच ही लिया था कि अब तो बोल ही देता हूँ और फिर मैंने भाभी से मुस्कुराते हुए मजाक में बोल ही दिया कि भाभी मेरी कोई गर्लफ्रेंड तो नहीं हैं और न ही में किसी को पसंद करता हूँ | लेकिन एक लड़की हैं जिसे में बहुत पसंद करता हूँ फिर भाभी ने मुझसे मुस्कुराते हुए कहा बताओ कौन हैं वो लड़की | उसके बाद मुझे से बिलकुल कंट्रोल नहीं हुआ और उसी समय मैंने भाभी का हाथ पकडकर अपनी तरफ खींचा और उनकी आँखों में देखकर कहा कि भाभी वो लड़की आप हो मैं आपको बहुत पसंद करता हूँ आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो |

उसके बाद उसी समय भाभी शर्मा कर हस्ते हुए मुझसे बोली कि सही में अजय तुम मुझे पसंद करते हो | फिर मैंने उन्हें पकड़कर दीवार पर टिका लिया और उनसे कह दिया कि सही में भाभी मैं आपको बहुत पसंद करता हूँ | और उसके बाद भाभी शर्मा कर तुरंत कमरे से चली गई | उसके बाद में अपने कॉलेज चला गया और जब कॉलेज से वापस घर आया तो भाभी मुझे देखकर हस रही थी | मुझसे हस्ते हुए खाना खाने को कहा और में भी उन्हें देखकर हसने लगा और खाना खाकर अपने कमरे पर चला गया |….उसके बाद भैया शाम को जब घर आये तो उन्होंने बताया कि इंदौर में पापा कि तबियत बहुत ख़राब हो गई हैं तो वो कुछ दिन कि छुट्टी लेकर इंदौर जा रहे हैं पापा का इलाज करवाने के लिए और फिर दूसरे दिन भैया इंदौर चले गए | फिर उसके बाद में बहुत खुश हो गय क्योकि घर पर सिर्फ में और भाभी थे | में अपने कॉलेज कि फाइल बना रहा था और उसी समय भाभी नहा रही थी | में फाइल बनाते बनाते उन्ही के बारे में सोच रहा था | मुझे बहुत चोदने का मन कर रहा था | फिर उसी समय भाभी की आवाज़ आई और वो मुझे बुला रही थी | फिर में उनकी नहानी के पास जाकर कहा क्या हो गया भाभी | फिर भाभी ने मुझसे बोला कि अजय मेरी तौलिया ला कर दे दो मैं कमरे में भूल गई हूँ | फिर उसके बाद मैंने तौलिया लेकर देने गया तो मुझे भाभी कि गांड और गोरे गोरे दूध दिख गए | उसी समय मेरा लंड खड़ा हो गया | फिर वो बोली कि जल्दी तौलिया लाकर दो अजय और मैं फिर सीधा नहानी के अंदर घुस गया देने के लिए. | उस समय का नजारा देखने लायक था | भाभी मुझे बाहर जाने को कह रही थी | लेकिन में उनके पास गया और उनको पकड़कर गले से लगा लिया और उनके पूरे बदन को चूमने लगा और उनके दूध दबाने लगा | भाभी ने मुझे छोड़ने को कहा कि …..अजय छोड़ो मुझे ऐसा मत करो आआह्ह्ह ….. लेकिन में कहा छोड़ने वाला था | फिर में भाभी कि गोरी गांड में ऊँगली डाली | तो भाभी को भी बहुत मजा आने लगा और फिर उसके बाद भाभी भी मुझसे लिपट गयी और अपने होटो से मेरे होटो को किस करने लगी | फिर उसके बाद में भाभी को अपने हाथो से उठा कर उनके कमरे में लेकर गया और पलंग पर पटक दिया और फिर उसके बाद भाभी ने मुझे अपने तरफ खीच लिया और अपने दूधो को मेरे मुह में लगाया | फिर मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़कर अपनी गांड में डाला और उचकने लगी | भाभी को बहुत मजा आ रहा था वो मुझे छोड़ ही नहीं रही थी | लकिन उनसे ज्यादा मजा तो मुझे आ रहा था | फिर में भी भाभी के गाड में अपना लंड डालता हूँ और चोदने लगता हूँ | भाभी को बहुत मजा आ रहा था वो और चोदने को बोल रही थी | और अआहाह  आह्ह ऊउह्ह उह्ह कर रही थी | फिर उसके बाद मैंने अपने लंड को भाभी के मुह में डाल दिया | वो मेरे लंड को बहुत चूस रही थी | अपने दूधो को मुझसे दबाने को बोल रही थी | फिर में उनके दूध बहुत देर तक दबाता रहा और खूब निप्पल चूस रहा था | अलग अलग तरीके से भाभी को मैं चोदे जा रहा था | भाभी को मजा आ रहा था और वो आह्ह ऊह्ह आह्ह चिल्लाये जा रही थी | पूरी रात भर में भाभी को चोदता रहा | फिर उसके बाद भाभी ने मेरे होटो को अपने होटो से लगाकर चूमती रही और में भी उनको चूमते रहता हूँ | फिर उसके बाद सुबह हो गयी और उसके बाद भाभी उठी और वो बहुत खुश थी चुदाई से | फिर उसके बाद रोज भाभी मुझसे चुदती थी | पर जब भैया घर अ गए तब थोडा सा विराम लग गया हमारी चुदाई पर | फिर भी जब भैया जॉब पर चले जाते थे तो मैं कभी भी जब मेरा मन होता था तो भाभी को चोदता रहता था और भाभी को भी बहुत मजा आता था और वो हमेशा मुझसे चुदने के लिए तैयार रहती थी | तो दोस्तों कुछ ऐसी ही थी मेरी कहानी और मैं धन्य हो गया ऐसी भाभी पाकर | दोस्तों आप लोगों को मेरी ये कहानी कैसी लगी कमेंट में जरुर बताइयेगा |
      edit

0 comments:

Post a Comment